भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

दिल्ली पुलिस के 'महिला गश्ती दस्ते' की क्या है खासियतें

img
नई दिल्ली (ईएमएस)। दिल्ली पुलिस के दक्षिण जिले ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर सभी महिला गश्ती दस्ता(ऑल वीमेन पट्रोलिंग स्क्वायड) को उतारा है। इस दस्ते का उद्देश्य महिला की सुरक्षा व सुरक्षा को सुनिश्चित करना है। ये दस्ता दक्षिण जिले में उन जगहों पर पेट्रोलिंग करेगा जहां महिला की उपस्थिति ज्यादा होती है। दक्षिण जिला पहला ऐसा जिला बन गया है कि जिसने पहली बार महिला पेट्रोलिंग दस्ता पेट्रोलिंग के लिए जिले में उतारा है। 
दक्षिण जिला डीसीपी रोमिल बानिया का कहना है कि इस दस्ते में 12 महिला पुलिसकर्मी हैं। ये एक जिप्सी व चार मोटरसाइकिल पर पेट्रोङ्क्षलग करेंगी। सभी महिला पुलिस कर्मियों को पेट्रोलिंग के लिए प्रशिक्षित किया और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए विशेष ट्रेनिंग दी है।
डीसीपी रोमिल बानिया का कहना है कि इस महिला पेट्रोलिंग दस्ते को दो उद्देश्यों के साथ पट्रोलिंग के लिए उतारा गया है। पहला, सड़क किनारे व सार्वजनिक जगहों पर अकेली घूमने वाली महिलाओं में सुरक्षा की भावना लाना है। दूसरा, इससे महिला पुलिसकर्मी भी प्रोत्साहित होंगी। इस दस्ते में होशियार व समझदार महिला पुलिसकर्मियों को चुना गया है। ड्राइविंग, घुडसवारी व वाहनों के रखरखाव की विशेष ट्रेनिंग दी है। उन्होंने कहा कि ये गश्त दिन केसमय स्कूल व कॉलेज व व्यस्ततम बाजारों और शाम के समय सार्वजनिक जगहों पर गश्त करेगा। ये दस्ता व्यस्ततम बाजार जैसे सरोजनी नगर, सलेक्ट सिटी मॉल, हौजखास गांव, कमला नेहरू व गार्गी कॉलेज आदि जगहों पर गश्त करेगा। दस्ते की स्कूल व कॉलेज के पास ज्यादा से ज्यादा उपस्थिति रहेगी। 
संदीप सिंह/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/०८/मार्च/२०१८
 
Admin | Mar 08, 2018 17:23 PM IST
 

Comments