भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

एसएससी पेपर लीक: छात्रों ने मुंडवाया सिर जताया विरोध

img
नई दिल्ली (ईएमएस)। एसएससी पेपर लीक मामले में परीक्षार्थियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। अभ्यर्थियों ने अपने बाल मुंडवाए और प्रदर्शन को जारी रखा है। दिल्ली में ये अभ्यर्थी पिछले कई दिनों से धरना-प्रदर्शन पर हैं। अभ्यर्थियों की मांग थी कि एसएससी पेपर लीक मामले में सीबीआइ जांच हो। केंद्र सरकार छात्रों की मांग को मानते हुए जांच के आदेश पहले ही दे चुकी है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि 'हमने धरना-प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों की मांग स्वीकार कर सीबीआइ जांच के आदेश दिए हैं। सीबीआइ जांच की मांग स्वीकार किए जाने के बाद भी छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों की मांग है कि जब तक सही फॉर्मेट जारी नहीं होता और उनकी अन्य मांगों को नहीं माना जाता वो प्रदर्शन जारी रखेंगे। गौरतलब है कि एसएससी पेपर लीक मामला देश की सबसे बड़ी अदालत तक पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर 12 मार्च को सुनवाई करेगी। रविवार को दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के नेतृत्व में आंदोलनरत छात्रों का प्रतिनिधिमंडल गृहमंत्री राजनाथ सिंह व एसएससी चेयरमैन असीम खुराना से मिला था। इसके बाद एसएससी चेयरमैन ने आंदोलनकारी छात्रों की मांग का समर्थन किया था। इस मामले ने सियासी रंग भी ले लिया है। धरना स्थल पर सभी बड़े राजनीतिक दलों के नेता पहुंचकर बयान दे चुके हैं। मामले की गूंज संसद, सड़क और सुप्रीम कोर्ट तक सुनाई दे रही है। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल हुई तो संसद में इस पर शोर शराबा शुरू हो गया। सांसद पप्पू यादव ने सदन शुरू होने से पहले ही इस मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया था। परीक्षार्थियों का आरोप है कि 17 से 22 फरवरी 2018 तक हुए कम्बाइन्ड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा की दूसरे चरण की ऑनलाइन परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर लीक हो गए थे। विभिन्न छात्र संगठनों का आरोप है कि लीक में एसएससी के अधिकारी और ऑनलाइन परीक्षा संचालन करने वाली एजेंसी भी शामिल है। पहले एसएससी ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था और प्रदर्शनकारियों से सबूत पेश करने को कहा था।
संदीप सिंह/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/०८/मार्च/२०१८
 
Admin | Mar 08, 2018 13:56 PM IST
 

Comments