भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

मोदी और राहुलः दोनों सही

img
(डॉ. वेदप्रताप वैदिक)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में कांग्रेस के जैसे धुर्रे बिखेरे, वैसे संसद के इतिहास में किसी भी गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने नहीं बिखेरे। उसका एक कारण तो यह भी था कि अटलजी के अलावा सभी पूर्व कांग्रेसी थे- मोरारजी, चरणसिंह, विश्वनाथप्रताप सिंह, चंद्रशेखर, देवेगौड़ा, गुजराल आदि और अटलजी गैर-कांग्रेसी होते हुए भी नेहरु और इंदिरा गांधी के प्रशंसक थे और फिर अटलजी पर कांग्रेसी उतने कटु हमले नहीं करते थे, जैसे कि आजकल वे मोदी पर कर रहे हैं। इसीलिए मोदी ने कांग्रेस को भारत-विभाजन, परिवारवाद, लोकतंत्र की हत्या, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, आर्थिक विषमता, कश्मीर समस्या, आपात्काल, सिखों की हत्या, सरदार पटेल की उपेक्षा आदि के लिए जिम्मेदार ठहराया और महात्मा गांधी का हवाला देते हुए कहा कि वे स्वयं कांग्रेस-मुक्त भारत चाहते थे। भारत में लोकतंत्र की स्थापना का श्रेय कांग्रेस को देने का विरोध करते हुए मोदी ने कहा कि आप भारत के लोकतंत्र की हजारों वर्ष पुरानी परंपरा पर पानी क्यों फेर रहे हैं ? भारत में लिच्छवी गणराज्य और बौद्ध संघों की परंपरा के बारे में कांग्रेसियों को कुछ ज्ञान है या नहीं ? नेहरु की जगह यदि सरदार पटेल प्रधानमंत्री बनते तो कश्मीर की समस्या पैदा होती क्या, मेादी ने पूछा ! मोदी को शायद पता न हो, तिब्बत के बारे में भी पटेल ने नेहरु को सचेत किया था। मोदी का भाषण, जिसने भी तैयार करवाया, उस टीम को मेरी हार्दिक बधाई लेकिन राहुल और अहमद पटेल ने भी सरकार के कान खींचने में कोई कमी नहीं रखी। मोदी ने गड़े मुर्दे उखाड़े तो राहुल ने सरकार के कपड़े फाड़े। उसने पूछा कि पुरानी घिसी-पिटी पुरानी बातें करने की बजाय मोदी यह बताएं कि कांग्रेस-राज में बैंकों का कर्ज 52 लाख करोड़ रु. था। अब वह सिर्फ तीन साल में 73 लाख करोड़ कैसे हो गया ? फ्रांस से जो राफेल विमान कांग्रेस सरकार 526 करोड़ रु. में खरीद रही थी, उनकी कीमत अब 1570 करोड़ रु. क्यों चुकाई जा रही है? इतनी बड़ी दलाली कौन डकार रहा है ? क्या यह सरकार कुछ चुनींदा पूंजीपतियों के इशारों पर नाच रही है ? वह राफेल सौदे के तथ्यों पर पर्दा क्यों डाले हुए है ? हर माह लगभग 10 लाख नौजवान बेरोजगार हो रहे हैं। नोटबंदी और जीएसटी को जिस भौंडे ढंग से लागू किया गया, उसने सैकड़ों लोगों की जान ले ली, काला धन पकड़ा नहीं गया और व्यापारी और उपभोक्ता परेशान हैं। पाकिस्तानी घुसपैठ जारी है और मोदी सर्जिकल स्ट्राइक की बांसुरी बजाए जा रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पर हमले को अपना धर्म बना लिया है और वे अपने राजधर्म की उपेक्षा कर रहे हैं। वे प्रधानमंत्री पद की मर्यादा का निर्वाह नहीं कर रहे हैं। वे रेडियो पर मन की बातें करते रहें लेकिन संसद में कुछ काम की बातें तो करें। (ईएमएस)।
.../राजेश/12.30/ 9 फरवरी 2018
 
Admin | Feb 09, 2018 13:25 PM IST
 

Comments