भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

हिंदी केवल भारत की भाषा नहीं: सुषमा

img
नई दिल्ली (ईएमएस)। लोकसभा में बुधवार को कांग्रेस नेता शशि थरूर और विदेशमंत्री स्वराज के बीच हिंदी को लेकर दिलचस्प बहस देखने को मिली। शशि थरूर ने संयुक्त राष्ट्र में हिंदी को आधिकारिक भाषा के तौर पर मान्यता दिए जाने का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि 'यूएन में हिंदी को आधिकारिक भाषा के तौर पर मान्यता' एक व्यर्थ प्रयास है। मौजूदा समय में हमारे प्रधानमंत्री और विदेशमंत्री हिंदी बोलते हैं, भविष्य में कोई गैर-हिंदी भाषी व्यक्ति प्रधानमंत्री और विदेशमंत्री बन जाएगा, तब। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में किसी भाषा को आधिकारिक मान्यता के लिए सदस्य देश को इसके लिए भुगतान करना होता है। शशि थरूर के सवाल पर विदेशमंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता को जानकारी नहीं है। अगर वह सोचते हैं कि हिंदी केवल भारत में बोली जाती है, तो वह गलत सोच रहे हैं। हिंदी को फिजी में भी आधिकारिक भाषा के तौर पर मान्यता प्राप्त है।
राजेन्द्र, ईएमएस, 03 जनवरी-2018
 

 

Admin | Jan 03, 2018 15:14 PM IST
 

Comments