भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

मंत्री श्रीमती चिटनिस ने ग्राम बख्खारी में लोक कल्याण शिविर में ग्रामीणों की सुनी समस्याएं

img
बुरहानपुर,(ईएमएस)। प्रदेष सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) ने ग्राम बख्खारी में लोक कल्याण षिविर लगातार समस्याएं सुनी। श्रीमती चिटनिस ने शिविर में आए ग्रामीणों की समस्याओं को सुनकर संबंधित अधिकारियों को निराकरण के निर्देश दिए। शिविर में विभिन्न विभागों से संबंधित आवेदन पत्र प्राप्त हुए। शिविर में ग्रामीण विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी, पशु पालन, कृषि, उद्यानिकी, शिक्षा, जल संसाधन, लोक निर्माण सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने उपस्थित रहकर मौके पर ही ग्रामीणों से प्राप्त आवेदनों का निराकरण किया।
मंत्री श्रीमती चिटनिस ने समाज में सामजिक समरसता कायम करने के लिए जातिवाद को समाप्त करने तथा गरीबी, बीमारी, गंदगी, शराबखोरी के खिलाफ संघर्ष करने का संदेष दिया। उन्होंने कहा कि बख्खारी ग्राम तय करें कि गांव में शराब की दुकान नहीं होगी तो बख्खारी ग्राम एक मिसाल पेष कर सकता हैं। शराब दुकान बंद कराने हेतु 26 जनवरी 2018 को होने वाली ग्राम सभा में यह निर्णय सर्वसम्मति से ले तो अगली बख्खारी ग्राम में शराब बिक्री हेतु नीलामी नहीं होगी। श्रीमती चिटनिस ने ग्राम बख्खारी में शिवाजी महाराज एवं राजयोगिनी देवी अहिल्याबाई की मूर्ति स्थापना हेतु घोषणा की।
मंत्री श्रीमती चिटनिस ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की सड़कांे के विकास और आवागमन की सुविधा को सरल, सुदृढ़ बनाने हेतु शाहपुर से बख्खारी ग्राम तक पुल-पहुंच मार्ग का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। इसी प्रकार बखारी ग्राम में आंतरिक विकास अंतर्गत करीब 39 लाख रूपए से अधिक के विभिन्न योजनाओं के माध्यम से अनेकों विकास कार्य किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि अधिकतर लोग बीपीएल कार्ड बनाने के लिए परेषान होते हैं। बीपीएल कार्ड के बजाय यदि कर्मकार मंडल का कार्ड बना लेते है, तो उन्हें बीमार होने पर 3 लाख 50 हजार रूपए तक की सहायता शासन से मिल सकती हैं। इसके अलावा मकान बनाने के लिए कार्डधारी को 1 लाख रूपए अनुदान, मृत्यु होने पर 2 लाख रूपए, बेटी के विवाह के लिए नगद 30 हजार रूपए, बच्चों की पढ़ाई के लिए 500 से 4000 रूपए तक कक्षावार अतिरिक्त छात्रवृत्ति का प्रावधान, खेल प्रोत्साहन के लिए 25 हजार रूपए की अतिरिक्त सहायता राषि का प्रावधान हैं। यदि 2 वर्ष तक कर्मकार मंडल कार्डधारी बने रहते है तो उन्हें शासन की ओर से निःषुल्क साईकिल उपलब्ध करवाने का प्रावधान हैं। 
शिविर में ग्रामवासियों ने अपनी-अपनी समस्याऐं मंत्री श्रीमती चिटनिस के समक्ष रखी। इसमें पानी की समस्या, विकलांगता संबंधी, प्रधानमंत्री आवास, कर्मकार मंडल के कार्ड, राषन कार्ड, साफ-सफाई आदि विषयों पर आवेदन प्राप्त आए। मंत्री श्रीमती चिटनिस ने अधिकारियों को समस्याओं के त्वरित निराकरण करने के निर्देष संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि कर्मकार कल्याण मंडल योजना में श्रमिकों एवं उनके परिवारों को लाभान्वित कराने सहित वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास, लाडली लक्ष्मी योजना, सामाजिक सुरक्षा सहित अन्य योजनाओं का जरूरतमंद को लाभ मिल सके और जरूरतमंद शासन की हितग्राही मूलक योजनाओं से वंचित न हो यही सेवा भी है और शासकीय अमले से जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों का कर्तव्य भी। उन्हांेने कहा कि गांव के विकास हेतु दरियादिली की परंपरा और व्यापक सोच का परिचय देकर पक्ष-विपक्ष से परे होकर सर्वश्रेष्ठ सेवा करना होगी। जिससे गांव में पशुपालन वृद्धि और जलसंवर्धन के उपाय साकार रूप ले सके। 
मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि, भारत सरकार के हनी मिषन से बुरहानपुर को जोड़ लिया गया हैं। इस मिषन के तहत प्रत्येक हितग्राही को उन्नत डिब्बें प्रदाय किए जा रहे है। शहद से कुपोषण को दूर करने में आसानी होगी। साथ ही खेत में पौधें पर फूल आने पर मधुमक्खियों का उपयोग पर परागण हेतु किया जाएगा। जिससें हितग्राहियों की आमदनी बढ़ेगी। मधुमक्खी के डिब्बे से मोम एवं जेल भी प्र्राप्त होगा।
 इस अवसर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष किशोर पाटिल, जिला पंचायत सदस्य गुलचंद्रसिंह बर्ने, मुकेश शाह, वीरेन्द्र तिवारी, विनोद चौधरी, प्रभाकर कोली, सरपंच रमाबाई, गोकुल पाटिल, परमानंद पाटिल, आदिनाथ सपकाले, नरेन्द्र मेढ़े, कडु सुराजी बोरसे, रघुनाथ सपकाले, राजू पाटिल, राजू सोहले, कैलाश हांडगे, हेमराज पाटिल, कायेश चौकसे, लक्ष्मण टेंभुर्णे, सुनिल सपकाले, सुभाष सपकाले, गुलाब पाटिल, गणेश कोली, सुनिल सपकाले, राहुल बोरसे, विजय अमोदे, बाडू मसाने, दीपक महाजन, कृष्णा माली सहित अधिकारी-कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।
३१/१२/२०१७ ईएमएस 
 
Admin | Dec 31, 2017 16:49 PM IST
 

Comments