क्षेत्रीय


(प्रयागराज) डाला छठ का पर्व का हुआ समापन

प्रयागराज इलाहाबाद (ईएमएस)। प्रयागराज इलाहाबाद शहर में गंगा यमुना सरस्वती के पावन तट पर कार्तिक शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से शुरू हुआ लोक आस्था के महापर्व डाला छठ का पर्व बुधवार को गंगा व यमुना के घाटों पर उगते सूर्य को अघ्र्य देने के साथ समाप्त हो गया ।गंगा.यमुना घाट पर बिताई रात मंगलवार को डूबते सूर्य अघ्र्य देने के बाद ज्यादातर लोग अपने घरों को चले गए लेकिन जारीए चाकाए मोइनीद्दीनपुर से कुछ आई महिलाएं और परिजन संगम नोज पर बने शिविर में रुक गईं थी। साथ ही वेदी पर चलाई गई अखंड ज्योति की निगरानी भी करती रहीं। स्वयंसेवकों ने कमाया पुण्य घाट पर युवाओं में श्रद्धालुओं की मदद कर पुण्य कमाने की होड़ लगी रही।गंगा.यमुना घाट पर बिताई रात मंगलवार को डूबते सूर्य अघ्र्य देने के बाद ज्यादातर लोग अपने घरों को चले गए लेकिन जारीए चाकाए मोइनीद्दीनपुर से कुछ आई महिलाएं और परिजन संगम नोज पर बने शिविर में रुक गईं थी। साथ ही वेदी पर चलाई गई अखंड ज्योति की निगरानी भी करती रहीं। स्वयंसेवकों ने कमाया पुण्य घाट पर युवाओं में श्रद्धालुओं की मदद कर पुण्य कमाने की होड़ लगी रही। भोर से उमड़ी घाटों पर भीड़ सप्तमी तिथि पर बुधवार को संगमए बलुआघाटए शंकरघाटए अरैल समेत गंगा.यमुना के विभिन्न घाटों पर सुबह चार बजे से व्रती महिलाओं के साथ उनके परिजन पहुंचने लगे। सूप और दऊरी में ठेकुआए केलाए नारियलए मूलीए सेवए भीगा चनाए सिंघाड़ाए कच्ची हल्दीए शकरकंदए नाशपातीए कमल पुष्पए अनारएमालाए धूप अगरबत्तीए संतराए नीबू आदि सजाकर गंगाजल अर्पित कर दीपक जलाए।लोक आस्था के महापर्व डाला छठ का पर्व पर सूर्यदेव के दर्शन के साथ पूर्ण हुआ ३६ घंटे का व्रत घाट से लौटकर छठ मइया का प्रसाद घर.घर बांटा गया ।लोक आस्था के महापर्व डाला छठ का पर्...