राज्य

प्रदेश एक्सप्रेस - सीएम कमलनाथ ने प्रोफेसर वीरेंद्र कुमार के खिलाफ 7 दिन में मांगी जांच रिपोर्ट

Posted by Divyansh Joshi on

1
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तकनीकी शिक्षा संचालक प्रोफेसर वीरेंद्र कुमार के खिलाफ 7 दिन में जांच रिपोर्ट मांगी है। मुख्यमंत्री के उप सचिव की ओर से प्रमुख सचिव को पत्र लिखा गया है और कहा गया है कि डॉक्टर कुमार पर लगे आरोपों की जांच करते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए।

2
टीकमगढ़ जिले की खरगापुर के कुड़ीला में रविदास जयंती समारोह में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने स्कूल शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रभु राम चौधरी की उपस्थिति में आवेदन देने पहुंचे अतिथि शिक्षकों ने शिक्षा मंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाए।

3
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार हमेशा कर्मचारियों का अहित करती है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के समय कर्मचारियों को पीएफ पर 8.75ः ब्याज मिलता था लेकिन कांग्रेस सरकार ने इसे घटा दिया।


4
मध्यप्रदेश के अल्पसंख्यक नेताओं ने जिला योजना समिति में भागीदारी नहीं मिलने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस पर मुस्लिम नेताओं की उपेक्षा का आरोप लगाया है और शिकायत कांग्रेस अध्यक्ष तक पहुंचाई है।


5

इंदौर में एमवाय अस्पताल में 1 दिन की मासूम बच्ची को भर्ती कराया गया है जिसके शरीर पर चाकू जैसे ऑब्जेक्ट से घाव किए गए हैं। बच्ची के माता-पिता यह बताने को तैयार नहीं हैं कि आखिर यह सब किसने किया? उनका कहना है कि घाव अपने आप हो गए?

6
लोकायुक्त पुलिस द्वारा 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए प्रशिक्षु सहायक वन संरक्षक विजय मौर्य ने स्वीकार किया है कि वह एसडीओ और डीएफओ के नाम पर वसूली करके आला अफसरों तक पैसे पहुंचाता था। लोकायुक्त अब डायरी में नाम वाले अफसरों को भी आरोपी बता सकता है।

7
मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के नाम से फर्जी कॉन्फ्रेंस कॉल कराने वाले डॉक्टर चंद्रेश शुक्ला को प्राइवेट नंबर का सिम कार्ड दिलवाने वाले दक्ष अग्रवाल को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। डॉक्टर चंद्रेश को वीआईपी नंबर का यह सिम डेढ़ लाख रुपए में दिलाया गया था।

8
अपनी मांगों को लेकर बीते 74 दिन से आंदोलन कर रहे अतिथि विद्वानों का कहना है कि सरकार नहीं चाहती कि वह नियमित हों। उन्होंने आरोप लगाया कि अतिथि विद्वानों की व्यवस्था बरकरार रखने के लिए नियमितीकरण नहीं किया जा रहा है।

9
पुलिस आरक्षक भर्ती घोटाले के एक आरोपी शांतिलाल भारद्वाज ने खुद को मानसिक रोगी बताते हुए मामले की सुनवाई स्थगित करने की मांग की है। इसके बाद जज ने आरोपी की मेडिकल जांच के आदेश दिए हैं। वहीं डॉक्टर का कहना है कि आरोपी बाइपोलर डिप्रेशन से पीड़ित है।