क्षेत्रीय

व्हीएसटी,व्हीव्हीएसटी, एसएसटी और एफएसटी टीमें प्रशिक्षण में कोताई न बरतें - कलेक्टर

12/03/2019

मुरैना (ईएमएस)। लोक सभा निर्वाचन स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांति पूर्ण सम्पन्न हो इसके लिए व्हीएसटी,व्हीव्हीएसटी, एसएसटी और एफएसटी टीमें प्रशिक्षण प्राप्त करने में कोई कोताई नहीं बरतें । गलती किसी भी हालत में मान्य नहीं होगी । जिम्मेदारी के साथ सौपी गई जिम्मेदारियों का निर्वहन समय पर हो । ये निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती प्रियंका दास ने शा.पोलीटेक्नि कॉलेज मुरैना में मंगलवार को प्रशिक्षण के दौरान दिये । इस अवसर पर अपर कलेक्टर एस के मिश्रा, संयुक्त कलेक्टर उमेश प्रकाश शुक्ला, राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स, व्यय से संबंधित एम एम बैग सहित व्हीएसटी,व्हीव्हीएसटी, एसएसटी और एफएसटी टीम के सदस्य थे।
वीडियो सर्वेलेंस टीम
इनका कार्य सभा/ रैलियों/ बैठकों का वीडियो कवरेज करना, कवरेज से पूर्व सभी प्रकार की घटनाओं के बारे में स्थान तारीख प्रकार एवं पार्टी अभ्यर्थी का नाम वॉयस मोड में रिकॉर्ड करना होगा। रिकॉर्डिंग में वाहन, कुर्सियां, टेंट, मंच, पोस्टर, फ्लेक्स, कटआउट बेनर अदि कवर कर समस्त खर्चो को केप्चर करना होगा। यदि वाहन अन्य स्थान पर पार्क किये गये हो तो जहां तक सम्भव हो ड्रायवर एवं पेसेंजर के बयान भी रिकॉर्ड करना होगा। सभी रैली आदि में प्रयक्त समस्त सामग्री की संख्या को वायस मोड में भी रिकॉर्ड करना होगा। बीच-बीच में भाषण के अंशो विशेषकर आचार संहिता के उल्लंघन वाली बातों को अवश्य रिकॉर्ड करना चाहिए। क्य्शीट एवं सीडी मय पहचान संख्या दिनांक घटना व कर्मचारी के नाम का उल्लेख करते हुये व्ही.व्ही.टी को सौंप देना चाहिए। जहां एक ही दिन में एक ही क्षेत्र में एक ही समय पर एकाधिक कार्यक्रम है तो उसके लिये पृथक से व्ही.एस.टी लगाई जायेगी। यह सीडी आप किसी अन्य को नहीं देंगे। विस्तृत जानकारी हेतु आयोग के निर्देशों को पढे।
फ्लाइंग क्वाड
प्रत्येक थाना क्षेत्र हेतु एक फ्लाइंग क्वाड होगी। इसमें एक कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं एक पुलिस अधिकारी होगा। यह क्वाड समस्त प्रकार के निर्वाचन खचे एवं आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों को देखेगी। सी.ई.ओ तथा जिला शिकायत निगरानी प्रकोष्ठ से प्राप्त शिकायत को देखेंगे। शिकायतकर्ता के संपर्क विवरण के साथ प्राप्त शिकायतों को तत्काल देखना। जहां तत्काल पहुंचना (30 मिनिट में) सम्भव न हो वहां एस.एस.टी या थाना प्रभारी को भेजना व कृत कार्यवाही का अनुश्रवण करना।
एस.एस.टी/एफएस/एसएचओ द्वारा कृत ऐसी समस्त कार्यवाहियों की वीडियोग्राफी करना। फ्लाइंग क्वाड कृत कार्यवाही की रिपोर्ट जिला नियंत्रण कक्ष या कॉलसेन्टर को करेगा। कार्यवाही की प्रतिदिन रिपोर्ट डीईओ/एसपी एवं एईओ को देना । नगद या अन्य जब्ती की रिपोर्ट एनएक्सजेर 8 में तैयार की जायेगी। सम्बन्धित थाना क्षेत्र में एमसीसी का पालन सुनिश्चित करवाना। सभा, जुलूस व रैलियो की कानून व्यवस्था देखना। एसएसटी के बारे में निगरानी रखना की लोगों को अनावश्यक परेशान तो नहीं किया जा रहा है।
स्टेटिक सर्वेलेंस टीम
एफएस और एसएसटी की दैनिक रिपोर्ट एसपी के माध्यम से पीएचक्यू के नोडल अधिकारी को प्रेषित की जायेगी। जो सीईओ को प्रेषित करेंगे। शंकास्पद नगर/उपहार जब्त करना व अपराध प्रतीत होता है तो सीआरपीसी/आईपीसी की धाराओं के तहत कार्यवाही करना। अपराध का विनिश्चय किया जायेगा। यदि जब्त सामग्री के साथ प्रचार सामग्री, अवैध हथियार या किसी अभ्यर्थी/ अभिकर्ता/ राजनैतिक पदाधिकारी के पास किसी वाहन/ साथ में हो तो।
खर्चे संवदेनशील पॉकेट समस्त प्रकार की शिष्टता शालीनता एवं नम्रता का ध्यान रखा जायेगा। जब्ती का पंचनामा बनाया जायेगा।
वीडियोग्राफी करना।जब्ती की पावती देना। जब्ती आदेश में अपीलीय प्राधिकारी एवं अपील विधि की विशिष्टियों को दर्शाया जायेगा।
कृत कार्यवाही की रिपोर्ट एसपी, डीईओ, ईओ एवं पुलिस नोडल ऑफीसर तथा पुलिस ऑब्जर्वर को भेजना।
वीडियो अवलोकन दल
इनकी बैठक व्यवस्था एटी/एईओ के कक्ष में होगी। इनके पास एक सीडी प्लेयर व टीवी होगा। यह टीम व्यय से सम्बन्ध मामलों और आदर्श आचार संहिता से संबंधित मामलों की पहचान हेतु रोज सीडी देखेगी। यह टीम उसी दिन या अधिक से अधिक अगले दिन व्यय संबंधी अपनी रिपोर्ट लेखा/टीम/ सहायक व्यय प्रेक्षक को देंगे। यह टीम एमसीसी उल्लंघन के मामलों की रिपोर्ट जीओ एवं आरओ को देंगे। उपरोक्त आधारों पर अभ्यर्थी के छाया प्रेक्षण रजिस्टर में उपरांत किये गये व्यय का ब्योरा दर्ज करेंगे।
प्रवीण/12/03/2019