मनोरंजन

मरी आलोचना का कारण है मेरा नंबर वन होना : नेहा कक्कड़

22/05/2020


मुंबई (ईएमएस)।: 'आंख मारे', 'दिलबर', 'ओ साकी साकी' और 'गर्मी' जैसे कई सुपरहिट गानों से बॉलीवुड प्लेबैक में राज कर रहीं गायिका नेहा कक्कड़ नेगेटिव कमेंट से बहुत परेशान नहीं हैं, क्योंकि उनका कहना है कि लोग उनकी आलोचना इसलिए करते हैं, क्योंकि वह नंबर वन हैं। नेहा का कहना है कि "बेशक, मैं भी एक इंसान हूं और मुझे भी इसे लेकर बुरा लगता है, लेकिन बुरा महसूस करने के बाद मैं इसे पीछे छोड़ देती हूं। मुझे लगता है कि ये लोग जो मेरे बारे में बुरा लिख रहे हैं, वे और कोई नहीं, बल्कि ईष्र्यालु लोग हैं।
उन्हें लगता है, 'नेहा यहां क्यों है? जो नंबर वन सिंगर है उसके बारे में लिखेंगे लोग। उन्होंने आगे कहा, इसलिए मैं समझती हूं कि मैं नंबर वन हूं इसलिए लोग मेरे बारे में बातें करते हैं और जलते हैं। वहीं गायिका का मानना है कि वह नफरत करने वालों से नहीं डरती हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि इनकी संख्या सीमित है। उन्होंने कहा, जलने वाले लोग कम हैं, और प्यार देने वाले बहुत हैं। बहुत ही कम समय में नेहा रीमिक्स गानों की क्वीन बन गई हैं। उन्होंने सुपरहिट रीक्रिएशन जैसे 'आंख मारे', 'ओ साकी-साकी', 'एक तो कम जिंदगानी', 'काला चश्मा', 'तुम पर हम है अटके' जैसे कई गाने गाए हैं। गायिका ने कहा मुझे लगता है कि अगर यह अच्छा रीमिक्स है तो कोई समस्या नहीं है, क्योंकि यह अनुमति के साथ किया गया है। क्या होता है, शुरू में लोग नकारात्मक व्यवहार करते हैं और कहते हैं, 'गाने को बर्बाद कर दिया।' बाद में, वे मेरे गाने को सुनते भी हैं और उस पर नाचने का आनंद भी लेते हैं।" उत्तराखंड के ऋषिकेश में पैदा हुईं नेहा को लगता है कि जब बात कौशल की आती है तो वह सही राह पर हैं। नेहा ने कहा, "तो, शुरू में प्रतिक्रिया नकारात्मक होती है, लेकिन बाद में वही प्रतिक्रिया 'वो इतना कमाल का हो जाता है', जो आप उन गीतों के लिए सुनते हैं। मैं जब रेडियो सुनती हूं तो मुझे अपने ही गाने सुनने को मिलते हैं, इसलिए मुझे अच्छा लग रहा है। तब मुझे पता चलता है कि मैं सही रास्ते पर हूं, और लोग मुझे हर समय सुनना चाहते हैं।
अनिरुद्ध/ईएमएस 22 मई 2020