राष्ट्रीय

ओवैसी के पास है 13 करोड़ की चल-अचल संपत्ति, चल रहे 5 क्रिमिनल केस

19/03/2019

हैदराबाद (ईएमएस)। एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल कर दिया है। नामांकन पत्र में असदुद्दीन ओवैसी ने 13 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति घोषित की है। ओवैसी ने यह भी बताया है कि उनके पास कोई वाहन नहीं है। ओवैसी की चल संपत्ति 1.67 करोड़ रुपए की है, जबकि अचल संपत्ति 12 करोड़ रुपए से ज्यादा है। नामांकन दाखिल करते समय उनकी तरफ से दिए गए हलफनामे के मुताबिक, उनकी पत्नी के पास 10.40 लाख रुपए की चल-अचल संपत्ति और 3.75 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति है। साल 2017-18 के दौरान औवेसी की आय पिछले साल 13.33 लाख रुपए से घटकर 10 लाख रुपए रही। हलफनामे में असदुद्दीन ओवैसी ने यह भी घोषणा की है कि उनके ऊपर 9.30 करोड़ रुपए का कर्ज है, जिसमें छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी से लिया गया पांच करोड़ रुपए का कर्ज भी शामिल है।
औवेसी के पास कोई कार तो नहीं है, लेकिन उनके पास एक पिस्टल है, जिसकी कीमत एक लाख रुपए है। इतना ही नहीं औवेसी के पास एक राइफल भी है, जिसकी कीमत भी एक लाख रुपए ही है। औवेसी के पास नकद दो लाख रुपए हैं और 43 लाख रुपए से ज्यादा बैंक में जमा हैं। सन 2014 के चुनाव में औवेसी ने 27.84 लाख रुपए की अचल संपत्ति और 1.40 करोड़ रुपए की कुल देनदारियों के साथ 3.10 करोड़ रुपए से ज्यादा की अचल संपत्ति घोषित की थी।
औवेसी के पास कोई कृषि या गैर-कृषि भूमि या व्यावसायिक जमीन नहीं है। उनके आवासीय भवनों में शास्त्रीपुरम में एक घर शामिल है, जहां वह फिलहाल रह रहे हैं। 36,250 वर्ग फुट के एक निर्मित क्षेत्र के साथ इस संपत्ति में ओवैसी की तीन-चौथाई और उनकी पत्नी की एक-चौथाई हिस्सेदारी है। घोषणा के मुताबिक औवेसी ने दो करोड़ रुपए में जमीन खरीदी और निर्माण के लिए 11 करोड़ रुपए का निवेश किया। घर का अनुमानित वर्तमान बाजार मूल्य 15 करोड़ रुपए है। उनके पास मिश्री गुंज में 60 लाख रुपए का एक और घर है। नई दिल्ली के द्वारका, नवसंगम के एक फ्लैट में उनकी 2-8वीं हिस्सेदारी (37.50 लाख रुपए) हैं। घोषणा में यह भी उल्लेख किया गया है कि उनके खिलाफ पांच आपराधिक मामले लंबित हैं। उन्होंने घोषित किया कि उन्हें किसी भी आपराधिक अपराध के लिए दोषी नहीं ठहराया गया। बता दें कि हैदराबाद लोकसभा सीट पर पहले चरण में 11 अप्रैल को चुनाव होना है। औवेसी साल 2004 से तीन बार हैदराबाद सीट पर जीत दर्ज कर चुके हैं। सत्तारूढ़ टीआरएस पहले ही उन्हें समर्थन देने की घोषणा कर चुकी है।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 19 मार्च 2019