ज़रा हटके

आपकी लापरवाही से हाते है सर्दी-खांसी और जुकाम के संक्रमण

24/08/2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। जिन्हें साल के 12 महीने में से 10 महीने सर्दी जुखाम रहता है और ना केवल मौसम बदलने से बल्कि आम दिनों में भी आप सर्दी-जुखाम की वजह से बीमार रहते हैं, तो सावध्हीान हो जाए। दरअसल, आप अकेले नहीं है, जो इस तरह की समस्या से जूझ रहे हैं। सामान्य सर्दी जुखाम बड़ी आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ट्रांसफर हो जाता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार कम से कम 20 सेकंड तक अच्छी तरह से हाथ धोना चाहिए। इसके अलावा खाना खाने से पहले, टॉइलट यूज करने के बाद, किसी बीमार व्यक्ति की देखभाल के बाद और खांसने या छींकने के बाद भी हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको भी सर्दी जुखाम होने का खतरा रहता है।
इसमें कोई शक नहीं कि जिनका इम्यून सिस्टम यानी रोगों से लड़ने की क्षमता कमजोर होती है, वे जल्दी बीमार पड़ते हैं। बता दें कि इम्यूनिटी वीक होने के पीछे कई वजहें होती है। इसमें ऑटोइम्यून प्रॉब्लम, कुछ बीमारियां या फिर कई तरह की दवाईयां शामिल होती हैं, जो शरीर को कमजोर बना देती हैं और रोगों से लड़ने की क्षमता खत्म हो जाती है। अगर आपका शरीर डिहाइड्रेटेड यानी शरीर में पानी की कमी है, तो भी आपका इम्यून सिस्टम यानी रोगों से लड़ने की क्षमता कमजोर हो जाती है। खुद को हाइड्रेटेड रखकर आप बीमार पड़ने के खतरे को कई गुना कम कर सकते हैं। शरीर में कीटाणुओं के पहुंचने का सबसे आसान रास्ता है हमारे हाथ। अगर आपक कीटाणु वाले हाथों का इस्तेमाल करते है, तो कीटाणु बड़ी आसानी से हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं। यदि आपको किसी चीज से एलर्जी है, तो आपकी सर्दी जुखाम की समस्या और ज्यादा बढ़ जाएगी। इतना ही नहीं एलर्जी की वजह से सर्दी के लक्षण भी आए दिन दिखते और बढ़ते नजर आते हैं। अगर आपकी सर्दी जुखाम की समस्या 7 दिन के अंदर ठीक नहीं होती तो, आपको डॉक्टर से संपर्क कर चेक करवाना चाहिए कि कहीं आपको किसी तरह की कोई एलर्जी तो नहीं है।
हर्षिता/ईएमएस 24 अगस्त 2019