क्षेत्रीय

नारकीय जीवन जीने से मजबूर महिलाओं ने डीएम आवास घेरा

12/01/2021

फोटो:01-काशीराम कॉलौनी की दुर्दशा एवं फोटो:08-डीएम आवास का घिराव करती महिलाएं
अलीगढ़ (ईएमएस)। शहरी कांशीराम कालोनी का इस समय-हाल बेहाल है। कालोनी के प्रत्येक आवास में शौचालय तो बनाए गए हैं, लेकिन देख-रेख के अभाव में इनके गटर के टक्कन टूट जाने से मेनहॉल की गंदगी सड़कों पर बह रही है। हालत यह है कि एक मेनहॉल तो मुख्य मार्ग के बीच में खुला हुआ है, जिससे बच कर निकलना आसान नहीं है। इसमें कई बार बच्चे गिर चुके हैं। जिनको बमुश्किल कालोनी के लोगों ने निकाला है। कालोनी के हर किनारे पर अपार गंदगी के ढेर देखे जा सकते हैं। नाले के अभाव में कालोनी से निकलने वाला गंदा पानी मुख्य मार्गों पर बहता रहता है। जो आवागमन में बाधक बना हुआ है। गंदे जलभराव और मच्छरों के प्रकोप से परेशान महिलाएं एकत्रित होकर डीएम आवास का घिराव करने पहुंच गई। महिलाओं का कहना था कि जहां हर तरफ कोरोना संक्रमण फैलने से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। वहीं काशीराम आवास कॉलौनी में नारकीय जीव महिलाएं औश्र बच्चे जीने काम मजबूर है क्या यहां कोरोना का बिल्कुल खतरा नहीं है।
बसपा सरकार में इस कालोनी को बसाया गया था। शहर में रहने वाले निराश्रित एवं आवास विहीन लोगों को इस कालोनी में मकान दिए गए थे, कालोनी में मेहनत कस मजदूर किस्म के लोग रहते हैं तथा दैनिक मजदूरी करके अपने परिवार का भरण-पोषण करने वाले लोग निवास करते हैं।
मुख्य समस्या कालोनी के अधिकांश शौचालय के गटर टूटे हुए हैं। पाइप लाइनें भी टूटी हुई हैं। मुख्य रास्ते के गटर भी टूटे हुए हैं। कालोनी के गंदे पानी की निकासी का कोई साधन नहीं है। गलियों में गंदा पानी भरा रहता है। कालोनी में गंदगी के ढेर लगे रहते हैं। सफाई कर्मी भी कभी नहीं आते हैं। नारकीय जीवन जीने को है मजबूर रू कांशीराम कालोनी में हम लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। कालोनी के हर घर के सामने इतनी गंदगी रहती है। कि घर के अंदर बैठना संभव नहीं हो रहा है। नाले का अभाव गंदगी का पर्याय बना हुआ है।
नगर निगम की अनदेखी से गटर का पानी घरों में भरता है। बदबू व गंदगी के चलते बीमारियों का खतरा बना हुआ है। पाइप लाइनें टूटने से गंदा पानी फैलता रहता है। रोड लाइट के भी पर्याप्त इंतजाम नहीं है। कांशीराम कालोनी में नगर निगम के सफाई कर्मी नहीं आते हैं, अगर भूल से कभी आते भी हैं, तो नाली की गंदगी निकाल कर रोड के किनारे डाल जाते हैं, जिसको उठाने कोई नहीं आता है। यहीं गंदगी बार-बार नालियों में पहुंच कर जल प्रवाह को रोक रही है। गंदगी अगर देखनी है, तो कांशीराम कालोनी में देखी जा सकती है। यहां स्वच्छ भारत मिशन को आइना दिखाया जा रहा है।
धर्मेन्द्र राघव/12/01/2021