क्षेत्रीय

भू माफिया के मकान पर चला बुलडोजर, खेतों में खड़ी फसल कर दी नष्ट

14/01/2020

छतरपुर (ईएमएस)। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा माफियाओं के खिलाफ छेड़ी गई मुहिम के तहत मंगलवार को जिला मुख्यालय छतरपुर में छत्रसाल नगर के पीछे गठेवरा रोड पर मॉडल स्कूल के पास सरकारी जमीन कब्जा कर बनाई गई दुर्गा कॉलौनी में भू-माफिया हल्के भैया यादव के मकान पर जिला प्रशासन ने बुलडोजर चलवा दिया। इतना ही नहीं हल्के भैया को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। सरकारी जमीन पर हल्के भैया द्वारा कराई जा रही खेती को भी ट्रेक्टर चलवाकर मटियामेट कर दिया। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद रहा।गौरतलब है कि गत 30 दिसम्बर 2019 को जिला प्रशासन की टीम जब दुर्गा कॉलौनी में सरकारी जमीन पर बने गरीबों को आशियाने ध्वस्त करने गई थी तब आक्रोशित भीड़ ने प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों को लाठी-डण्डे लेकर खदेड़ दिया था तथा उन पर पथराव किया था। इसी दौरान छतरपुर के कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी पज्जन मौके पर पहुंच गए थे और उन्होंने अतिक्रमण हटाओ मुहिम को रूकवा दिया था। उन्होंने साफ कहा था कि पहले बड़े-बड़े भू-माफियाओं को निशाना बनाया जाए। फिर गरीबों के आशियाने तोड़े जाएं।अपर कलेक्टर प्रेम सिंह के नेतृत्व में आज दोपहर एडीशनल एसपी जयराज कुबेर, एसडीएम अनिल सपकाले, सीएसपी उमेश शुक्ला, नगर पालिका के सीएमओ अरूण पटैरिया सहित भारी पुलिस बल दुर्गा कॉलौनी पहुंच गया और भू-माफिया हल्के भैया यादव को रासुका के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। एडीएम प्रेम सिंह ने बताया कि हल्के भैया यादव ने ही सरकारी जमीन पर अन्य लोगों को कब्जा करवाकर मकान बनवा दिये थे। प्रशासन की टीम ने सशत्र पुलिस बल की मौजूदगी में हल्के भैया यादव के पक्के मकान को जेसीबी की मदद से ध्वस्त कर दिया। इतना ही नहीं हल्के भैया द्वारा सरकारी जमीन पर कब्जा कर खेती कराई जा रही थी। इस जमीन पर गेहूं की फसल कई एकड़ में खड़ी थी। इस पर भी प्रशासन ने ट्रेक्टर चलवा कर उसे जमीदोज कर दिया।जिला प्रशासन की इस कार्यवाही पर सवाल खड़े हो गए हैं। आम लोगों को कहना है कि शहर में कई बड़े-बड़े भू-माफिया सरकारी जमीनों पर कब्जा किए बैठे हैं। प्रशासन उनके खिलाफ कार्यवाही करने के बजाए छोटे लोगों को निशाना बना रही है। खेतों में खड़ी फसल नष्ट करने पर भी आम जनमानस में प्रशासन के खिलाफ तीखा आक्रोश है।
प्रवीण/14/01/2020