ट्रेंडिंग

गोवा में कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला आप -टीएमसी गैर-बीजेपी वोट बांटेंगे: चिदंबरम

14/01/2022

नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस के सीनियर नेता पी. चिदंबरम ने गोवा विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा को दो मुख्य दल बताया है। उन्होंने कहा कि अगर आप और टीएमसी ने उम्मीदवार खड़े किए और कुछ वोट हासिल किए तो वास्तव में वे गैर-बीजेपी वोटों का बंटवारा करेंगे। चिदंबरम ने कहा कि गोवा में भाजपा विरोधी और सत्ता विरोधी हवा चल रही है। हमारी पार्टी मतदाताओं से अपील करेगी कि गोवा पर गोवा के लोगों का शासन होना चाहिए। गोवा विधानसभा चुनाव के लिए चिदंबरम कांग्रेस के सीनियर इलेक्शन ऑब्जर्वर हैं। उन्होंने कहा कि गोवा में कांग्रेस की गहरी जड़ें हैं। पूरे राज्य में कैडर आधार और लोगों की सेवा का लंबा रिकॉर्ड है। आप ने 2017 में सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ा और खाता भी नहीं खुला। टीएमसी की एंट्री हुई है। दोनों दलों के पास निर्वाचन क्षेत्रों में कैडर आधार नहीं है। उन्होंने अन्य दलों, विशेष रूप से कांग्रेस से दलबदल के जरिए अपनी पार्टियों को खड़ा करने का प्रयास किया है। चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस इससे निराश थी कि टीएमसी ने उनके विधायकों को लालच दिया। हमें विश्वसनीय रिपोर्ट मिली कि टीएमसी ब्लॉक स्तर के नेताओं, सरपंचों से संपर्क में थी। उन्होंने कुछ दिन पहले कहा था कि टीएमसी ने संकेत दिया था कि वह राज्य के चुनावों के लिए कांग्रेस और अन्य दलों के साथ गठबंधन करना चाहेगी। एआईसीसी लीडरशिप को टीएमसी की इच्छा के बारे में पता है और उसने टीएमसी को जवाब दिया होगा, लेकिन इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं है। गोवा में कांग्रेस के गठबंधन को लेकर उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर बातचीत हो रही है। उन्होंने कहा कि गोवा यूनिट ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के साथ समझौता कर लिया है। राज्य में कुछ अन्य दलों से बातचीत जारी है। मैं यह कहने की स्थिति में नहीं हूं कि इस बातचीत का नतीजा क्या होगा। चिदंबरम ने विश्वास जताया कि कांग्रेस विधायकों के भाजपा में जाने का दोहराव नहीं होगा, जैसा कि मौजूदा विधानसभा कार्यकाल के दौरान हुआ था। उन्होंने कहा, "2017-2019 में जो हुआ वह शर्मनाक था। मुझे इसका पछतावा है। चुने गए विधायकों ने पार्टी, कांग्रेस कार्यकर्ताओं और मतदाताओं के साथ धोखा किया। उन्होंने कहा, "इस बार हमने ब्लॉक कमेटियों को ब्लॉक में कार्यकर्ताओं की बैठक करने और कुछ मानदंडों के आधार पर नाम प्रस्तावित करने के लिए कहा है, उनमें से सबसे प्रमुख वफादारी है। पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति ब्लॉक की ओर से सुझाए गए नामों में से उम्मीदवार का चयन करेगी।
अजीत झा/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/14/जनवरी/2022