ट्रेंडिंग

गुफा साधना के बाद पीएम मोदी ने की पूजा

19/05/2019

- कहा मेरी प्रवृत्ति मांगने की नहीं
- लंबे समय बाद गुफा में ध्यान लगाया
केदारनाथ (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव का प्रचार समाप्त होने के बाद केदारनाथ और बदरीनाथ की यात्रा पर गए पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह मीडिया से काफी देर बात की। करीब 17 घंटे तक पवित्र गुफा में ध्यान लगाने के बाद उन्होंने सुबह उठकर केदारनाथ मंदिर में पूजा की। पूजा के बाद बाहर निकले पीएम मोदी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मैं आभारी हूं कि चुनाव आयोग की वजह से दो दिन ध्यान करने का मौका मिला।

मनुष्य मांगने के लिए नहीं देने के लिए बना
उन्होंने कहा मुझे लंबे समय बाद गुफा में ध्यान लगाने का मौका मिला है। यह पूछे जाने पर कि केदारनाथ धाम में उन्होंने भगवान से क्या मांगा, उन्होंने कहा कि मेरी प्रवृत्ति मांगने की नहीं है। मैं ऐसी सोच से सहमत भी नहीं हूं। पीएम मोदी ने कहा मैं भगवान से कुछ नहीं मांगता हूं और इस प्रवृत्ति से मैं सहमत भी नहीं हूं। ईश्वर ने आपको मांगने नहीं बल्कि देने योग्य बनाया है। ईश्वर ने जो क्षमता दी है, वह हमें समाज को देना चाहिए। भगवान केदारनाथ, भोलेनाथ से पूरे भारत और मानव समाज के लिए आशीर्वाद मांगा। केदारनाथ धाम में चल रहे कार्यों को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि मैं इन पर नजर रखता हूं और कई बार विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जायजा लेता हूं।

पर्यटन मानचित्र पर मिलेगी जगह
उन्होंने कहा केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के कपाट खुलते हैं, तो आम लोगों को लगता है कि हमें भी जाना चाहिए। लेकिन, उससे दो सप्ताह पहले बहुत बड़ा काम प्रशासन को करना पड़ा है। हालांकि इन चीजों की चर्चा बहुत कम होती है, जबकि कोई एक गड़बड़ हो जाए तो उसकी चर्चा ज्यादा होती है। उन्होंने पत्रकारों को धन्यवाद देते हुए कहा कि आपके आने से केदारनाथ और उत्तराखंड को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा इससे आम लोगों को केदारनाथ की व्यवस्थाओं के बारे में पता चलेगा। यही नहीं उन्होंने कहा कि लोगों को लगेगा कि सिंगापुर और दुबई की बजाय चलो केदारनाथ ही चलते हैं।

टीएमसी ने चुनाव आयोग से की शिकायत
पीएम मोदी की केदारनाथ यात्रा पर विवाद शुरू हो गया है। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिख कर इसकी शिकायत की है। टीएमसी ने मोदी के केदारनाथ दौरे के टीवी प्रसारण को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार देते हुए कार्रवाई की मांग की। टीएमसी ने कहा कि पीएम मोदी ने केदारनाथ में मास्टर प्लान का ऐलान किया और जनता एवं मीडिया को संबोधित किया। ऐसा करना आचार संहिता के खिलाफ है। तृणमूल कांग्रेस इस पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 19 मई 2019