राष्ट्रीय

कोई जांच से भागे तभी लुक आउट सर्कुलर जारी कराएं: हाईकोर्ट

12/06/2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि एक लुक आउट सर्कुलर (एलओसी) का उपयोग केवल तभी किया जाना चाहिए जब कोई व्यक्ति जांच से भाग रहा हो। अगर वह ऐसा नहीं कर रहा तो उसके मौलिक अधिकार गंभीर रूप से प्रभावित होते हैं। हाईकोर्ट ने राष्ट्रीय बैंक के एक पूर्व मुख्य प्रबंध निदेशक को ब्रिटेन लौटने की अनुमति देते हुए यह टिप्पणी की है। अधिकारी के खिलाफ सीबीआई के दो मामले लंबित हैं। दरअसल इस मामले में पजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के पूर्व अधिकारी के सी चक्रवर्ती अब ब्रिटेन में रहते हैं। पिछले साल वह अप्रैल में दिल्ली आए थे। उनके खिलाफ यहां दो मामले लंबित हैं। लेकिन लुक आउट सर्कुलर जारी होने के कारण वह वापस नहीं ङलौट पाए हैं। उनका परिवार ब्रिटेन में ही रहता है। हाईकोर्ट ने अब चक्रवर्ती को १ करोड़ रु की एफडी रजिस्ट्रार जनरल के पास जमा कराने एवं जमानती के आधार पर विदेश यात्रा की अनुमति दी है। हालांकि, हाईकोर्ट ने चक्रवर्ती को पांच सप्ताह के भीतर जांच के लिए वापस आने को भी कहा है।
संदीप/देवेन्द्र/ईएमएस/नई दिल्ली/१२/जून/२०१९