क्षेत्रीय

एसडीएम व राजस्व टीम ने किया बाढ़ क्षेत्र का निरीक्षण

21/06/2021

बाराबंकी (ईएमएस)। सरयू नदी घाघरा मे नेपाल ने लाखों क्यूसेक पानी छोड़ा सरयू नदी घाघरा खतरे के निशान को छूने को बेताब है मात्र 20 सेमी खतरे के निशान से नीचे। राजस्व व बाढ खंण्ड एलर्ट उपजिलाधिकारी सुरेन्द्र पाल विश्वकर्मा राजस्व टीम के साथ कोठरी गौरिया, इटहुवा पूरब में सरयू नदी के किनारे पंहुचकर किया निरीक्षण। राजस्व कर्मियों को एलर्ट करते हुए बाढ चौकियों का भी किया निरीक्षण सभी को चौकन्ना रहते हुये जैसे ही गांवों की तरफ पानी रुख करे ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पंहुचने के लिए निर्देश दिए हैं। बताते चलें कि नेपाल ने सरयू नदी में करीब 1 लाख 72, हजार क्यूसेक पानी छोड़ा है जिसके चलते सरयू नदी घाघरा अब खतरे के निशान से सिर्फ 20 सेमी नीचे है नेपाल से छोड़ा गया पानी भी सरयू नदी के डेंजरेस लेबल को छूने को आतुर दिख रहा है। एक लाख बहत्तर हजार क्यूसेक पानी से नदी की दांती तक पानी पंहुच कर खलार के रास्ते से बांध की तरफ पंहुच कर गांवों में फैल सकता है। ग्राम तेलवारी के पास नदी संकरी होने के चलते बाढ खंण्ड ने कटान के मुहाने खडे ग्राम समूह तेलवारी पर करवाये गये अनुरक्षण कार्य गांव को बचाने मे सार्थक साबित हो रहे हैं। ग्राम कहारनपुरवा गोबरहा तेलवारी मे कटर परक्यू पाइन अनुरक्षण कार्य नही करवाये गये गये होते तो अब तक आयी तीसरी बार की बाढ मे नदी कटान करते हुए गांवों का आस्तित्व समाप्ती की ओर पंहुचा रही होती। ऐसा उपरोक्त गांवों के ग्रामीणों का मानना है।तेलवारी के मोहडे पर करवाये गये अनुरक्षण कार्यों को आंशिक रूप से नुकसान पंहुचा था जिसे सहायक अभियंता व अवर अभियंता ने दो दिन में रात दिन बोरियों में आरबीएम भरकर तथा झांखड डलवा कर काम करवा लिया। उपजिलाधिकारी ने बताया है कि सरयू के उफान को देखते हुये एलर्ट जारी करते हुए ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने के लिए राजस्व टीम द्वारा बताया जा रहा है। वहीं तेलवारी ग्राम समूह को पंहुचने का प्रमुख मार्ग जो कि लोक निर्माण विभाग खंण्ड एक की सडक है बांध के नीचे पुलिया तक दोनों तरफ दो फिट से ऊपर गहराई में मिटटी धंस गयी है कोई भी वाहन तेलवारी गांव तक नहीं पहुंच पायेगा। लोक निर्माण विभाग ने अब तक सडक को देख कर अनुरक्षण कार्य करवाना मुनासिब नहीं समझा है।जब बांध के पास पानी आ जायेगा तब वह भी मिटटी और बोरी के साथ सरयू नदी में डुबकी लगाने को पंहुचेगे।
शमीम/21/06/2021