क्षेत्रीय

(लोकसभा निर्वाचन - 2019) एफएसटी, एसएसटी दलों को सी-विजिल एप का प्रशिक्षण दिया गया

19/03/2019

रतलाम (ईएमएस)। लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत राजनीतिक दलों अभ्यर्थियों के खर्च पर नजर रखने के लिए गठित किए गए फ्लाइंग स्क्वाड तथा स्थैतिक सर्विलेंस दलों को सी-विजिल एप के बारे में प्रशिक्षित किया गया। नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में मंगलवार को सुबह जिला सूचना विज्ञान अधिकारी श्री नरेंद्र सिंह चौहान तथा ई-दक्ष केंद्र के श्री मनीष शर्मा द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण में लगभग 50 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी सम्मिलित थे।
प्रशिक्षण में बताया गया कि सी-विजिल एप एक शिकायत निराकरण एप है जिसमें शिकायतकर्ता फोटो या वीडियो भेज कर शिकायत कर सकते हैं। एफएसटी, एसएसटी दलों को शिकायत निराकरण के लिए सी-विजिल इन्वेस्टिगेटर एप का उपयोग करना है। एक टीम में एक मजिस्ट्रेट और एक इंस्पेक्टर रहेगा। मजिस्ट्रेट तथा इंस्पेक्टर को प्ले स्टोर से यह एप डाउनलोड नहीं करना है बल्कि उनके मोबाइल तथा इंस्पेक्टर को एप से आई हुई लिंक एप को डाउनलोड करना है। लिंक के साथ मजिस्ट्रेट के मोबाइल पर पिन भी प्राप्त होगा। जिला कंट्रोल रूम से किसी भी शिकायत को असाइन करने पर फील्ड टीम को अलर्ट एवं एक टेक्स्ट एसएमएस प्राप्त होगा।
मास्टर ट्रेनर ने बताया कि फील्ड टीम को शिकायत प्राप्त होने पर रिजेक्ट अथवा एक्सेप्ट करने का विकल्प उसके पास रहेगा। यदि कोई शिकायत की जांच संभव नहीं है तो उसे ड्रॉप किया जा सकता है। एक स्थान से एक ही प्रकार की शिकायत को दर्ज कर एक ही प्रतिवेदन दर्ज किया जा सकता है। फील्ड टीम को शिकायत प्राप्त होने पर उनको 45 मिनट का समय मिलेगा जिसमें उन्हें दिए गए पते पर पहुंचना होगा एवं अपना प्रतिवेदन सी-विजिल एप से भरना होगा। यदि मजिस्ट्रेट का मोबाइल काम नहीं कर रहा है तो इंस्पेक्टर के मोबाइल से प्रतिवेदन दर्ज करना होगा। यह मान लिया जाएगा कि शिकायत का प्रतिवेदन मजिस्ट्रेट द्वारा ही दर्ज किया गया है।
सी-विजिल एप पर जिस प्रकार की शिकायत दर्ज की जा सकेंगी उनमें धन वितरण, उपहार वितरण, अनुमति के बिना पोस्टर, बैनर, शस्त्र, धमकी प्रदर्शन, बिना अनुमति के वाहन एवं काफिला, संपत्ति विरूपण, पेड न्यूज़, मतदान दिवस पर मतदाताओं का परिवहन, मतदान केंद्र के 200 मीटर के भीतर अभियान प्रतिबंधित, अवधि के दौरान अभियान धार्मिक या सांप्रदायिक भाषण, संदेश, स्पीकर का उपयोग, घोषणा के बिना पोस्टर डालना आदि सम्मिलित हैं। प्रशिक्षणार्थियों को सी-विजिल एप की बारिकियां बताते हुए संचालन का विस्तृत प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उल्लेखनीय है कि सी-विजिल सिटीजन एप भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार संपूर्ण मध्य प्रदेश में कार्यरत है। इस संबंध में जिला स्तर पर विद्यमान प्रत्येक फ्लाइंग स्क्वाड दल को प्रतिदिन अपने कार्य क्षेत्र में आदर्श आचरण संहिता उल्लंघन से संबंधित कम से कम एक शिकायत स्वतः संज्ञान फंक्शन का उपयोग कर प्रतिदिन जांच में लेना अनिवार्य है।
प्रवीण/19/03/2019