क्षेत्रीय

पिछड़ा वर्ग छात्रावास में अव्यवस्थाओं को लेकर छात्राओं ने सौंपा ज्ञापन

11/06/2019

अशोकनगर (ईएमएस)। जिला मुख्यालय में संचालित पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक बालिका छात्रावास में अधीक्षक की अनदेखी के चलते अव्यवस्थाओं का आलम है। यहां शासकीय नेहरू महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्राएं निवास कर पढ़ाई कर रही हैं। लेकिन छात्रावास में फैली अव्यवस्था के चलते छात्राओं की पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। छात्रावास में पानी, गर्मी सहित विभिन्न समस्याएं बनी हुई है। इस संबंध में छात्राओं द्वारा अनेक बार शिकायत के बाद भी समस्याएं दूर नहीं हो रही है।
मंगलवार को छात्राएं अपनी समस्या को लेकर कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचीं। जहां अपर कलेक्टर को आवेदन छात्राओं ने छात्रावास की समस्याओं से अवगत कराया। छात्राओं ने बताया कि छात्रावास में पानी की बहुत ही समस्या है। इतनी तेज गर्मी के मौशम में पीने के लिए भी पानी नहीं मिल रहा है। जो छात्रावास में बोर है उसमें पानी बहुत ही कम आता है। जिससे पानी पीने की तक व्यवस्था नहीं हो पाती है। जबकि नहाने एवं अन्य कार्यों के लिए भी पानी की बहुत जरूरत है। जो उन्हे नहीं मिल रहा है। छात्राओं ने बताया कि करीबन 10 दिन से छात्रावास में न तो कोई टैंकर आया है और न कहीं से पानी की व्यवस्था हुई है। बिल्कुल भी पानी नहीं है और तेज गर्मी में पंखे भी नहीं चल रहे। छात्राओं ने बताया कि अभी हमारी परीक्षाएं चल रहीं हैं ऐसी स्थिति में हम घर भी नहीं जा सकते हैं। जबकि छात्रावास अधीक्षक द्वारा घर जाने का दबाव बनाया जा रहा है। छात्राओं द्वारा मांग की गई है कि समस्याओं का शीघ्र से शीघ्र समाधान कराया जाए। ज्ञापन सौंपने वालों में छात्रा रूवी लोधी, अविता राय, ममता लोधी, सुमन लोधी, आराम लोधी, कौशल्या यादव, संगीता कुशवाह, आदि छात्राओं ने शामिल रहीं।

-पिछड़ा वर्ग छात्रावास के छात्रों ने भी सौंपा ज्ञापन:
बरखेड़ी के पास स्थिति पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रावास के छात्रों ने भी जनसुनवाई में ज्ञापन सौंपकर बारिश में परेशानी से अवगत कराया। छात्रों ने बताया कि यह छात्रावास बने करीबन तीन साल हो चुकी हैं। इसमें मुख्य मार्ग से छात्रावास तक पहुंचने के लिए कोई रास्ता नहीं है। जिससे बारिश के समय में छात्रों को जूते हाथ में लेकर कीचड़ में से जाना पड़ता है और स्कूल जाते समय भी उनकी ड्रेसे गंदी हो जाती हैं। पिछड़ा वर्ग छात्रों द्वारा अपनी समस्याएं बताते हुए शीघ्र ही छात्रावास तक रोड़ डलवाने की मांग की गई है। छात्र लोकपाल केवल, जितेन्द्र पटेल, रामप्रसाद बिसमिल्ला, हिमालय यादव, देवीसिंह, राहुल मंजीत यादव, गोविन्द कुशवाह, आदि छात्रों ने समस्याएं बताईं। छात्रों ने बताया कि छात्रावास को संचालित हुए तीन वर्ष हो गए हैं लेकिन अभी तक कोई व्यवस्थाए नहीं है। छात्र कीचढ़ से होते हुए जाते हैं या अधिक बारिश होने पर निकल ही नहीं पाते हैं। बारिश के समय छात्रों की पढ़ाई अवरुद्ध हो जाती है। छात्र मंजीत ने बताया कि आने वाले बारिश के मौसम को देखते हुए सडक़ डलवाने की मांग की गई।
प्रवीण/11/06/2019