क्षेत्रीय

कोरोना कर्फ्यू का असर संपूर्ण बाजार बंद, शहर में सन्नाटा छाया

02/05/2021

-कर्फ्यू से मुक्त व्यवस्था पर भीड़ से लोगों के घरों पर रहने की तपस्या भी हो रही है भंग
सीहोर (ईएमएस) । कोरोना कर्फ्यू जिलें मे प्रभावशील है। जिला के वाशिंदे भी अपनें स्वास्थ्य के प्रति चिंतित तथा जागरूकता का परिचय देते हुए कोरोना कर्फ्यू के नियमों का पालन करते हुए घरों पर ही रहकर है तथा वर्षों का नियमों का पालन भी कर रहा है लेकिन वस्तुस्थिति यह है कि कोरोना कर्फ्यू से मुक्त आवश्यक सुविधाएं जहां स्वास्थ्य विभाग के नियमों का पालन ना होने से चिंता का विषय बना हुआ है दवाइयों की दुकानें हो अथवा बैंक सहकारी बैंकों में पैसे निकालने के लिए लंबी कतारें लग रही है वही अनाज मंडी और उपार्जन केंद्रों पर भी लाख जतन के बाद लोग स्वास्थ्य विभाग के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं । जैसे मास्क नहीं पहनना ओर दो गज की दूरी का पालन करना तो अंसंभव ही लगता है ।जिसके चलते अभी आंकड़े बता रहे ग्रामीण क्षेत्रों में अब पॉजिटिव मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है जिसको लेकर आला अफसर भी चिंतित हैं और प्रतिदिन खासकर दूर अंचल के ग्रामीण क्षेत्रों का निरंतर दौरा भी कर समीक्षा भी कर रहे हैं और नियमों के पालन के लिए सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए जा रहे हैं उसके बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं है ऐसी स्थिति में सीहोर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में पाॅजीटीव मरीजों की संख्या मे बढोतरी चिंता का विषय है। सरकार इस पर पुनः विचार कर अनाज मंडी एवं उत्पादन केंद्रों पर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करनी होगी जिससे तुलाई के लिए किसानो को सीमित संख्या में बुलाया जाए अथवा बढते प्रभाव को दृष्टिगत रखते हुए बाजार में बढ़ती हुई भीड़ को देखते हुए हाल ही में कोरोना कर्फ्यू मे जो राहत दी गई थी उसे भी संशोधित करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया था ।उसी प्रकार संवेदनशील मुद्दे पर भी गहन चिंतन मंथन कर निर्णय लेने की आवश्यकता है।
विमल जैन/02मई2021