अंतरराष्ट्रीय

हिटलर का प्रशंसक है फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति को चाटा मारने वाला, बताई हमले की वजह

10/06/2021

-पुलिस ने गिराया तो डाउन विद मैक्रोनिया चिल्‍लाया, पहले इस शब्‍द का इस्‍तेमाल युद्ध में होता था
पेरिस(ईएमएस)। फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रां को सरेआम थप्‍पड़ मारने वाले हमलावर का नाम डेमिएन तारेल है और वह नाटक में मध्‍ययुगीन किरदारों की भूमिका अदा करता रहा है। उसके पास से पुलिस को जर्मन तानाशाह हिटलर की आत्‍मकथा मीन कैम्फ मिली है। वह अपनी मां के साथ रहता है। पुलिस पूछताछ में तारेल ने बताया कि उसने फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति को तमाचा मारने की पहले कोई योजना नहीं बनाई थी। तारेल को थप्‍पड़ मारने के बाद पुलिसकर्मियों ने जमीन पर गिरा दिया था। इसके बाद वह 'डाउन विद मैक्रोनिया (ए बास ला मैक्रोनी) चिल्‍लाने लगा था। पहले के जमाने में इस शब्‍द का इस्‍तेमाल युद्ध के दौरान किया जाता था। इस घटना की पूरी दुनिया में निंदा हुई थी। इस बीच पुलिस ने तारेल के घर की तलाशी ली है। उसके पास से कई हथियार, सोवियत संघ का झंडा, हिटलर की आत्‍मकथा, कई कल्‍पना आधारित उपन्‍यास और जापानी कॉमिक्‍स मिले हैं।
इस घटना के बाद एक पुलिस सूत्र ने दावा किया कि तारेल एक बागी है लेकिन खुफिया अधिकारी कई पहलुओं की जांच कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तारेल को अभी कई दिनों तक हवालात में ही रहना होगा। उधर, इस घटना के बाद भी फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति ने ऐलान किया है कि वह लोगों से मिलना जारी रखेंगे। उधर, तारेल अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर तलवार के साथ नजर आ रहा है। उसने एक ऐसा हेल्‍मेट पहना है जिसे जापान के मार्शल आर्ट केंडो के दौरान पहना जाता है। फ्रांसीसी मीडिया के मुताबिक तमाचा मारने के मामले में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फ्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां कास्टेक्स ने इस घटना को लोकतंत्र का अपमान बताया है। यह घटना उस समय हुई जब मैक्रों दक्षिण-पूर्वी फ्रांस के ड्रोम क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे थे। उन्होंने कोविड-19 के कहर के बाद लोगों के जीवन को जानने के लिए रेस्टोरेंट्स का दौरा किया और छात्रों से मुलाकात भी की।
पवन सोनी/ईएमएस 10 जून 2021