ट्रेंडिंग

गति शक्ति मिशन को लांच कर पीएम मोदी ने कहा, देश के 25 सालों के विकास की नींव रख रहे

13/10/2021


कुछ लोग इन्फ्रास्ट्रक्चर के विरोध पर गर्व करते
नई दिल्ली (ईएमएस)।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को नेशनल मास्टर प्लान 'गति शक्ति' को लांच कर दिया। प्लान के तहत देशभर में रेल, मेट्रो, वॉटरवेज सहित तमाम सेक्टर्स में 1 लाख करोड़ रुपये तक के काम किए जाएंगे। प्रोजेक्ट को लांच कर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम देश के 25 सालों के विकास की नींव रख रहे हैं। गति शक्ति के जरिए 21वीं सदी में देश के विकास का खाका तैयार हो सकेगा।इसके द्वारा सभी जरूरी प्रोजेक्ट्स समय पर पूरे हो जाएंगे।पीएम मोदी ने विकास के लिए इंफ्रास्टक्चर को महत्वपूर्ण करार देकर कहा कि क्वॉलिटी ढांचा बेहद जरूरी है। उसके आधार पर ही देश विकास की राह पर आगे बढ़ सकता है।
उन्होंने कहा कि अब तक तमाम सरकारी विभाग अलग-अलग काम करते थे। उनके बीच कोई समन्वय नहीं होता था, जिससे प्रोजेक्ट्स को पूरा करने में देरी होती थी।अब ऐसा नहीं होगा। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्ष के विरोध पर भी तंज कसा। पीएम मोदी ने कहा, कुछ लोग इन्फ्रास्ट्रक्चर के विरोध पर गर्व करते हैं। उनका इतना ही काम है।' पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीते कुछ सालों में हमारी एप्रोच समन्वय के साथ विकास परियोजनाओं पर काम करने की रही है। इससे विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि पिछले 70 सालों की तुलना में भारत आज ज्यादा स्पीड और अधिक स्केल पर काम कर रहा है। कुछ दल सिर्फ आलोचना में ही जुटे हैं। ये लोग इन्फ्रास्ट्रक्चर का भी विरोध कर रहे हैं।
इतना ही नहीं पिछली सरकारों पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा,पहले वर्क इन प्रोग्रेस के बोर्ड हर जगह लगा दिए जाते थे। लोग समझते थे कि यह काम,तब कभी पूरा नहीं होगा। इससे पता चलता है कि लोगों में कितना अविश्वास था। लेकिन हमारी सरकार ने इस सोच को बदला है। हमने अच्छे से प्लानिंग की और फिर परियोजनाओं को गति देने का भी काम किया है।'
अपनी सरकार के दौर में हुए काम का ब्यौरा देकर पीएम मोदी ने कहा कि 2014 तक देश में सिर्फ 5 वॉटरवेज थे, जो अब बढ़कर 13 हो गए हैं। उन्होंने कहा कि 9,000 किमी रेलवे लाइन का दोहरीकरण हुआ है। इसके अलावा 24,000 करोड़ रेलवे लाइन इलेक्ट्रिक हो रही हैं। फिलहाल देश में 16,000 किमी गैस पाइपलाइन पर काम चल रहा है। देश में 1,000 किलोमीटर मेट्रो रूट पर भी काम चल रहा है।
आशीष दुबे / 13 अक्टूबर 2021