क्षेत्रीय

(सीहोर) दस्तक अभियान पर दिया गया कर्मचारियों को प्रशिक्षण

05/12/2018

17 दिसंबर 2018 से 31 जनवरी 2019 तक संचालित होगा अभियान का द्वित्तीय चरण
सीहोर ( ईएमएस)। दस्तक अभियान का द्वित्तीय चरण 17 दिसंबर 2018 से 31 जनवरी 2019 तक संचालित होगा। अभियान की शत प्रतिशत सफलता के लिए बुधवार को इछावर एवं सीहोर शहरी क्षेत्र के महिला एवं पुरूष स्वास्थ्य कर्मचारियों को मंडी स्थित जिला प्रशिक्षण केन्द्र में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल,जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.टीआर उईके एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्री धीरेन्द्र आर्य द्वारा प्रशिक्षण दिया गया । दस्तक अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग,महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त दल ए.एन.एम.,आशा,एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा 5 वर्ष से छोटे बच्चों वाले परिवारों के घर तक स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की दस्तक दी जाकर बच्चों में पाई जाने वाली बीमारियों की सक्रीय पहचान एवं उचित प्रबंधन सुनिश्चित किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रभाकर तिवारी ने जानकारी दी कि डेढ़ माह तक संचालित होने वाले दस्तक अभियान के अंतर्गत समुदाय में बीमार नवजातों और बच्चों की पहचान व प्रबंधन,5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में बाल्यकालीन निमोनिया की त्वरित पहचान,प्रबंधन एवं रेफरल,गंभीर कुपोषित बच्चों की पहचान,रेफरल एवं प्रबंधन,6 माह से 5 वर्ष तक बच्चों में गंभीर एनीमिया,की सक्रिय स्क्रीनिंग,दस्त रोग नियंत्रण हेतु ओ.आर.एस.एवं जिंक के उपयोग संबंधी सामुदायिक जागरूकता में बढ़ावा एवं प्रत्येक घर में गृहभेंट के दौरान ओआरएस पहुंचाना,9 माह से 5 वर्ष तक के समस्त बच्चों को विटामिन ए अनुपूरण,बच्चों में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियों की पहचान,समुचित शिशु एवं बाल आहार पूर्ति संबंधी समझाईश समुदाय को देना,एसएनसीयू एवं एनआरसी से छुट्टी प्राप्त बच्चों में बीमारी की स्क्रीनिंग तथा फॉलोअप,गृहभेंट के दौरान आंशिक रूप से टीकाकृत एवं छूटे हुए बच्चों की टीकाकरण स्थिति की जानकारी देना तथा बाल मृत्यु की गत 6 माह तक की जानकारी आदि गतिविधियां शामिल है।