राज्य समाचार

कमलनाथ बताएं, 15 महीनों में भ्रष्टाचार के अलावा और क्या किया : विष्णुदत्त शर्मा

16/07/2020

विकास के साथ सम्मान और भारत माता की शान को बनाएं चुनावी मुद्दाः पटेल
प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा और केंद्रीय मंत्री श्री पटेल ने मेहगांव की वर्चुअल रैली में कहा
भोपाल (ईएमएस)। कमलनाथ ने सत्ता में आने के लिए प्रदेश के किसानों, युवाओं, बेटियों, बुजुर्गों, महिलाओं को धोखा दिया। 15 महीने के कार्यकाल में प्रदेश में भ्रष्टाचार के अलावा और कुछ नहीं किया। कोरोना संकट से मुकाबले के लिए एक भी मीटिंग नहीं ली और इंदौर में आइफा अवार्ड की तैयारी में लग गए। मेहगांव विधानसभा का प्रत्येक कार्यकर्ता यह जानता है कि कमलनाथ ने प्रदेश को लूटा है। मेहगांव और पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ से पूछना चाहती है कि बताइए आपने इतना भ्रष्टाचार कहां से किया? यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने गुरुवार को मेहगांव की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कही। रैली को केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, सांसद श्रीमती संध्या राय, प्रदेश सरकार के मंत्री ओ.पी.एस. सिंह भदौरिया एवं जिला अध्यक्ष नाथूसिंह गुंर्जर ने भी संबोधित किया। प्रदेश शासन के मंत्री भारतसिंह कुशवाह, राकेश शुक्ला, मुकेश चौधरी सहित कार्यकर्ता रैली से जुड़े। भोपाल में वर्चुअल रैली के दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लुणावत, प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी, जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी, विजय अटवाल, मनोज राठौर सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे। मंच का संचालन केवल मिश्रा ने किया।

भारतमाता के जयकारे के साथ आगे बढ़ती है भाजपा
प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि विश्वव्यापी कोरोना संकट के इस विकराल समय को देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी ने अवसर में बदलने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी कार्यकर्ता आधारित दल है और कार्यकर्ता ही हमारी क्षमता और शक्ति है। सामूहिक नेतृत्व के आधार पर और देश को सर्वोपरि मानकर भारतमाता के जयकारे के साथ भारतीय जनता पार्टी आगे बढ़ती है। मध्यप्रदेश में स्व. कुशाभाऊ ठाकरे, स्व. प्यारेलाल खंडेलवाल एवं स्व.राजमाता सिंधिया ने संगठन को सींचने का काम किया है इसलिए मध्यप्रदेश का संगठन पूरे देश में आदर्श संगठन के रूप में जाना जाता है।

गलत का विरोध करते रहे हैं सिंधिया जी
श्री शर्मा ने कहा कि वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया हमेशा सच्चाई का समर्थन और गलत चीजों का विरोध करते रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून पर जब कांग्रेस प्रदेश में झूठ बोलने का काम कर रही थी, तब कांग्रेस के अंदर श्री सिंधिया जी एकमात्र नेता थे, जिन्होंने सीएए कानून का समर्थन किया। वहीं, जब कमलनाथ सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किये, तो सिंधिया जी और उनके साथियों ने इसका विरोध किया। आज ज्योतिरादित्य सिंधिया भारतीय जनता पार्टी परिवार के अंग बने हैं और मैं कहता हूं कि भारतीय जनता पार्टी तो वह रंग है, जिसमें जो भी आते हैं, उसी रंग में रंग जाते हैं।

भाजपा सरकार ने बनाया स्वर्णिम मध्यप्रदेश
श्री शर्मा ने कहा कि 2003 के पूर्व दिग्विजय सिंह की सरकार ने प्रदेश को भ्रष्टाचार में डुबाकर बंटाढार कर दिया था। किसी भी राष्ट्रवादी विचार और काम पर प्रहार करना दिग्विजय अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझते हैं। इसके बाद आई भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने 15 वर्षो में स्वर्णिम मध्यप्रदेश बनाया। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेई जी ने देश के प्रत्येक गांव को सड़क से जोड़ने का संकल्प लिया और आज प्रदेश में कोई गांव नहीं है, जो प्रधानमंत्री सड़क योजना से न जुड़ा हो। दिग्विजय सिंह की सरकार के समय प्रदेश में केवल साढ़े सात लाख हेक्टेयर में सिंचाई हो रही थी, जिसने शिवराजसिंह चौहान की सरकार ने 15 सालों में 40 लाख हैक्टेयर से ऊपर पहुंचा दिया। किसानों को सुविधाएं, किसानों के प्रति सरकार की संवेदनशीलता, सरकार के प्रयासों और किसानों की अथक मेहनत के कारण मध्यप्रदेश को एक बार नहीं, पांच-पांच बार कृषि कर्मण अवार्ड मिला है। प्रदेश में गरीबों, बेटियों, किसानों, युवाओं, महिलाओं एवं बुजुर्गों के लिए योजनाएं बनाएं गईं। प्रदेश सरकार ने समाज के हर वर्ग के लिए काम करते हुए प्रदेश को स्वर्णिम मध्यप्रदेश बनाया।

कमलनाथ सरकार ने छीना गरीबों का हक
श्री शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश में दुर्भाग्य से 15 महीने पहले एक उद्योगपति सत्ता की कुर्सी पर बैठ गए, जिन्होंने पूरे प्रदेश को छोड़कर केवल छिंदवाड़ा के लिए ही काम किया। कमलनाथ सरकार के वरिष्ठ मंत्री ही कहते थे कि सरकार को कमलनाथ नहीं, पर्दे के पीछे से दिग्विजय सिंह चला रहे हैं। इस सरकार ने गरीबों के लिए बनाई गई संबल योजना को बंद करके गरीबों का हक छीन लिया। कमलनाथ ने बेटियों को कन्यादान योजना में 51000 रूपए देने की बात कही, जो आज तक किसी बेटी को नहीं मिला। शादियां हो गईं, बच्चे हो गए और अभी भी वो बेटियां कन्यादान की राशि के लिए आंदोलन कर रही हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत प्रदेश के लिए लाखों आवास स्वीकृत किए, लेकिन कमलनाथ सरकार ने इन आवासों को लौटाकर गरीबों के सिर से छत छीन ली।

प्रचंड जीत हासिल कर कमलनाथ को जवाब दें कार्यकर्ता
श्री शर्मा ने कहा कि कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को चैलेंज करते हुए कांग्रेस की बैठक में कहा है कि अब हमारा टारगेट भारतीय जनता पार्टी का संगठन होगा। उन्होंने कहा कि कमलनाथ उस परिवार के तन्खाई हैं जिसने इमरजेंसी लगाकर विचार को समाप्त करने का प्रयास किया था। श्री शर्मा ने कहा कि कमलनाथ जी गलतफहमी में मत रहिए, भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। हम कार्यकर्ताओं के बल पर ही चुनाव लड़ते और जीतते हैं। इसलिए आज मेहगांव विधानसभा के सभी कार्यकर्ता संकल्प लेते हैं कि आने वाले उपचुनाव में शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में, विकास के मुद्दे पर विजयश्री हासिल करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता संकल्प लेकर आगे बढ़ें और भारत माता की जय के नारे के साथ मेहगांव विधानसभा में प्रचंड बहुमत के साथ जीत हासिल कर कमलनाथ की उस चुनौती का जवाब दें।

चुनाव में विकास और भारत माता के गौरव की ही बात करें कार्यकर्ताः प्रहलाद पटेल
मेहगांव की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि मुझे एक बार एक शहीद के अंतिम संस्कार में मेहगांव जाने का अवसर मिला है। मैंने देखा है कि वहां के लोगों में दो चीजें सामान्य रूप से पाई जाती हैं। एक तो उनमें मान-सम्मान की चाहत होती है और दूसरी बात यह कि वह देश के लिए मर मिटने को तैयार होते हैं। इसलिए हमें विकास के साथ सम्मान और भारत माता के यश-गौरव को चुनावी मुद्दा बनाना चाहिए। सभी कार्यकर्ताओं से मेरा आग्रह है कि चुनाव में विकास और भारत माता की ही चर्चा हो, किसी व्यक्ति की नहीं। इस तरह जो जीत हासिल होगी, वह भी भारतीय जनता पार्टी की जीत होगी। इसके लिए संकल्प करें और आगे बढ़ें।

सरकार की उपलब्धियों को जनता तक ले जाएं
श्री पटेल ने कहा कि दो बातें संदेह संदेह से परे हैं। पहली बात यह कि भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता संगठन के हर फैसले को मानता है और तर्क नहीं करता। दूसरी बात यह है कि हमारी सरकारें काम करती हैं, इस पर किसी को कोई संदेह नहीं है। अगर कुछ लोग हमारी सरकारों की आलोचना भी करते हैं तो इसका मतलब है कि उनका देखने का नजरिया अलग है। एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के एक साल में 370 हटाने, नागरिकता संशोधन कानून लागू करने, ट्रिपल तलाक विरोधी कानून बनाने और राम मंदिर के मुद्दे पर फैसले जैसे काम हुए हैं। जल्दी ही राम मंदिर के लिए शिलान्यास भी होने जा रहा है। श्री पटेल ने कहा कि सिंधिया जी और उनके साथियों ने साहस दिखाया और अपने पदों से त्यागपत्र देकर जनता की अदालत में जाने का फैसला किया। इससे एक बार फिर प्रदेश में हमारी सरकार बनी है, जो कठिन परिस्थितियों में भी जनता को राहत पहुंचाने का काम कर रही है। ऐसे में हम कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। यह हमारे सामने एक अवसर भी है कि हम इन उपलब्धियों को जनता तक ले जाएं। इस महासंग्राम में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें और अगर आपने ठान लिया तो हमारी जीत सुनिश्चित है।

विकास की अनदेखी नहीं होगी
श्री पटेल ने कहा कि विकास के मामले में प्रधानमंत्री मोदी जी की सरकार की सोच बिल्कुल स्पष्ट है। सरकार का मानना है कि विकास की अनदेखी किसी भी स्तर पर नहीं होगी और इस काम में पैसे की कमी कभी भी चुनौती नहीं बन पाएगी। उन्होंने कहा कि जनता और जनप्रतिनिधि अपनी जो भी प्राथमिकताएं बताएंगे उसके हिसाब से काम जरूर होगा।
डेविड/ईएमएस 16 जुलाई 2020