ज़रा हटके

विटामिनों से भरपूर है परवल की सब्जी

31/07/2020

-लंबे समय तक ताजी रहने वाली है ये सब्जी
नई दिल्ली (ईएमएस)। बारिश के मौसम में प्रचुरता से मिलने वाली परवल की सब्जी विटामिनों से भरपूर है, जो इसे एक बेहतरीन सुपरफूड बनाते हैं। लंबे समय तक ताजी रहने वाली ये सब्जी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। परवल में मौजूद पोषक तत्व: परवल में विटामिन ए, विटामिन बी 1, विटामिन बी 2 और विटामिन सी व कैल्शियम भरपूर मात्रा में होते हैं, जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं। परवल में पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और कई अन्य सूक्ष्म पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा होती है। इस सब्जी का सबसे अच्छा गुण है कि यह कैलोरी में बहुत कम (प्रति 100 ग्राम में मात्र 24 कैलोरी) है और इसलिए परवल शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। परवल कई बीमारियों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। यह त्वचा संक्रमण, बुखार और कब्ज के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता रहा है। कफ की समस्या होने पर भी परवल असरदार माना जाता है परवल फाइबर का समृद्ध स्रोत है। यह पाचन प्रक्रिया को प्रभावी करने में मदद करता है। परवल की सब्जी खाने से पेट की सूजन दूर होती है, और पेट में पानी भरने की गंभीर समस्या में लाभ होता है। सौ ग्राम परवल के छिलकों में 24 कैलोरीज होती है और इसमें मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस भी भरपूर मात्रा में होता है।
परवल के बीजों या उसकी पत्त‍ियों का इस्तेमाल सिरदर्द या शरीर के किसी भाग में होने वाले दर्द के उपचार में किया जाता है। यदि आपका लक्ष्य वजन कम करना है, तो आप डाइट में परवल का चुनाव कर सकते हैं। यह आपको लंबे समय तक तृप्त रखेगा। परवल एंटीऑक्सीडेंट्स से भी भरपूर होता है, जो बढ़ती उम्र के निशानों जैसे झुर्रियों और बारीक रेखाओं को कम कर त्वचा में कसाव लाने में मदद करते हैं पानी के कम सेवन और शरीर में आयरन व मिनरल्स की कमी से कब्ज की समस्या होती है। परवल के बीज बेहद फायदेमंद होते हैं, इसलिए बीजों को भी खाने में इस्तेमाल करें। परवल के बीज शरीर में कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रित करने और रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में सहायक होते हैं। परवल को बीज समेत खाने से आप कब्ज से छुटकारा पा सकते हैं। परवल विभिन्न पोषक तत्वों और यौगिकों की उपस्थिति के कारण ऊतकों को साफ करके रक्त शुद्धि में भी मदद करता है, जिससे शरीर को रक्त शोधन में मदद मिलती है।
सुदामा/ईएमएस 31 जुलाई 2020