व्यापार

बिहार- हवाई यात्रा होंगी सस्ती, सरकार ने विमान ईंधन पर वैट 29 से घटाकर 4 फीसदी किया

21/09/2022

नई दिल्ली (ईएमएस)। बिहार के हवाई यात्रियों के लिए खुशखबरी है यहां जल्द ही विमानों के किराए में कमी आ सकती है। राज्य सरकार ने गया हवाईअड्डे पर एविएशन टरबाइन फ्यूल (एटीएफ) पर वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) को 29 फीसदी से घटाकर 4 फीसदी कर दिया है। यानी अब गया हवाई अड्डे पर एटीएफ की बिक्री पर केवल 4 फीसदी का वैट लगेगा। इससे विमान ईंधन की कीमत में गिरावट आएगी और साथ ही विमानों के किराए में भी कटौती देखने को मिल सकती है। सरकार द्वारा जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि एटीएफ पर वैट की दरों को घटाए जाने से न केवल विमानों की आवाजाही बढ़ेगी बल्कि ईंधन की खपत में भी इजाफा देखने को मिलेगा। बिहार कैबिनेट की बैठक में कुल 16 प्रस्तावों को मंजूरी मिली है।
साल 2021 में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 22 राज्यों, जिनमें बिहार भी शामिल था, से एटीएफ पर वैट घटान की मांग की थी। इसके बाद कई राज्यों ने वैट को कम भी किया था। इसी साल 4 जनवरी को उत्तर प्रदेश सरकार ने एटीएफ पर वैट को 21 फीसदी से घटाकर 1 फीसदी कर दिया था। सिंधिया ने राज्यों से अनुरोध किया था कि वे इसे 20-30 फीसदी से घटाकर 1-4 फीसदी पर लेकर आएं। गौरतलब है कि वैट केवल बिहार में ही अधिक नहीं था, बल्कि गुजरात में 30 फीसदी, तमिलनाडु में बिहार की ही तरह 29 फीसदी, कर्नाटक में 28 फीसदी और इनके अलावा करीब 12 राज्यों में ये 20 फीसदी से अधिक था। हालांकि, उसके बाद कई राज्यों ने इसमें कटौती कर दी थी।
सिंधिया ने राज्यों को पत्र लिखकर कहा था कि विमान ईंधन पर लगने वाला राज्य का टैक्स उनके राजस्व का बहुत मामूली हिस्सा होता है। साथ ही उन्होंने इसकी भरपाई के लिए यह तर्क दिया था कि राज्य में वैट घटने से विमानों की आवाजाही बढ़ेगी जो इस कमी को पूरा कर देगी। बता दें कि एटीएफ पर केवल राज्य ही नहीं केंद्र सरकार भी एक्साइज ड्यूटी लगाती है। ऐसा इसलिए हैं क्योंकि पेट्रोल-डीजल की ही तरह एटीएफ भी जीएसटी के दायरे से बाहर है और पिछले काफी समय से इसे जीएसटी के तहत लाने की मांग की जा रही है।
विपिन/ईएमएस 21 सितम्बर 2022