क्षेत्रीय

स्वर्गीय कुशाभाऊ ठाकरे की जयंती पर भाजपा नेताओं ने की पुष्पाजलि अर्पित

23/08/2019

भोपाल (ईएमएस)। भोपाल के वार्ड क्रमांक 25 में समाधी स्थल पर भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वर्गीय कुशाभाऊ ठाकरे की जयंती मनाई गई। इस मौके पर पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता एवं भाजपा जिला अध्यक्ष विकास विरानी समेत कई कार्यकर्ताओं ने श्री ठाकरे को पुष्पांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने उनकी बातों को स्मरण करते हुए कहा कि ठाकरेजी के डाले हुए संस्कार भाजपा कार्यकर्ताओं के चरित्र में हैं। आपातकाल के दौरान हमारा संगठन स्व ठाकरे की प्रेरणा के बल पर ही खड़ा रहा। वे एक कुशल संगठक थे। वे संगठन से सिर्फ कार्यकर्ता को नहीं, बल्कि पूरे परिवार को जोड़ते थे।
भाजपा जिला अध्यक्ष विकास विरानी ने कहा कि स्व. ठाकरे ने हमें संगठन के प्रति अनुशासन और समर्पण सिखाया है। यही बात हमें दूसरे संगठनों से अलग रखती है। रामदयाल प्रजापति ने कहा कि स्व ठाकरे के कारण भाजपा कार्यकर्ताओं की कार्यप्रणाली संगठन निष्ठ है।
भाजपा द्वारा शुक्रवार को समाधि स्थल पर भाजपा के पितृ पुरूष कुशाभाऊ ठाकरे की जयंती मनाई गई। सुबह लगभग 10 बजे पुष्पांजलि अर्पित की गयी। इस मौके पर भाजपा के ही लीलेन्द्र मारण ने कहा कि श्री ठाकरे का जीवन राष्ट्र एवं समाज के लिए समर्पित रहा। राजनीति को सेवा का भाव देने वाले श्री ठाकरे ने अपना सारा जीवन सामान्य तरीके से गुजारते हुए कार्यकर्ताओं को यह संदेश दिया कि राजनीति के माध्यम से जो सेवा का भाव पार्टी ने दिया है उस पर चलकर हम समाज की सेवा करें।
वहीं टी.टी. नगर मण्डल अध्यक्ष राकेश जोशी ने एक याद को ताजा करते हुए कहा कि श्री ठाकरे का कहना था कि नर सेवा ही नारायण सेवा है। इस अवसर पर पार्षद श्रीमती सरोज जैन, प्रभारी राकेश जैन, पार्षद जगदीश यादव, नितिन परिहार, संतोष सिमरोदिया, भेरूलाल बाघेला, लिखेश्वर लिल्हारे, मंजू सराठे, नन्दू सनान्से, राजू अनेजा, रूप सिंह मारण, जयसिंह मारण, चेतन सिंह, प्रतीक जैन, मुकेश देहाड़े, सत्येन्द्र शाह, महेन्द्र वर्मा, श्वेता मालवीय, रघुवंशी, योगेश मनूजा, राकेश सिरवैया समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने श्री ठाकरे जी को पुष्पपांजलि अर्पित की।
देश की राजनीति में भाजपा को इस मुकाम पर पहुंचाने में कुशाभाऊ ठाकरे के का विशेष योगदान है। आज उनका जन्मदिन है। मध्यप्रदेश के खंडवा संसदीय क्षेत्र से 1980 में ठाकरेजी ने चुनाव लड़ा। उन्हें हराने के लिए इंदिरा गांधी ने स्वयं कमान संभाली और पूरे तीन दिन तक खंडवा में डेरा डालकर प्रचार किया। भारतीय जनता पार्टी में ठाकरेजी को पितृ पुरुष कहा जाता है। उनका जन्म 15 अगस्त 1922 को मध्यप्रदेश के धार जिले में हुआ था।
ठाकरे जी को सादगी के लिए जाना जाता है। सांसद बनने के बाद भी भोपाल जैसे शहर में वह साइकिल से लोगों से मिलने जाया करते थे।
धर्मेन्द्र 23 अगस्त 2019