राज्य समाचार

सिंधिया के गढ़ में प्रचार करेंगे राहुल, प्रियंका और पायलट

17/10/2020

-राजस्थान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी कांग्रेस के लिए मांगेंगे वोट
भोपाल (ईएमएस)। मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव को लेकर जैसे-जैसे चुनाव की घड़ी नजदीक आ रही है। वैसे-वैसे राजनीतिक दलों की धड़कनें तेज होती जा रही है। कांग्रेस और भाजपा इस चुनाव में जीतने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं। जिताऊ उम्मीदवारों के साथ-साथ स्टार प्रचारकों को मैदान में उतार रहे हैं। जहां पहले भाजपा ने अपने 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की, वहीं शनिवार को कांग्रेस ने भी दिग्गजों को मैदान में उतार दिया। हैरानी की बात ये है कि इसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एमपी से इकलौते सांसद नकुलनाथ का नाम नहीं है।
कांग्रेस ने 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है। जिसमें राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, मुकुल वासनिक, कमल नाथ, दिग्विजय सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू शामिल हैं। वहीं दो राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी कांग्रेस ने प्रचार की कमान सौंपी है। जिसमें राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हैं।
ये हैं कांग्रेस के स्टार प्रचारक
शनिवार शाम को जारी स्टार प्रचारकों की लिस्ट में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, मुकुल वासनिक, कमलनाथ, अशोक गहलोत, भूपेश बघेल, दिग्विजय सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू, सचिन पायलट, अशोक चौहान, रणदीप सुरजेवाला, कांतिलाल भूरिया, सुरेश पचौरी, अरुण यादव, विवेक तन्खा, राजमणि पटेल, अजय सिंह, आरिफ अकील, सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, जयवर्धन सिंह, प्रदीप जैन, लाखन सिंह यादव, गोविंद सिंह, नामदेव दास त्यागी, आचार्य प्रमोद कृष्णन, साधना भारती, आरिफ मसूद, सिद्धार्थ कुशवाहा और कमलेश्वर पटेल के नाम शामिल हैं।

सिंधिया के गढ़ में सेंधमारी के लिए सचिन को कमान
भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य के गढ़ ग्वालियर-चंबल में चुनौती देने के लिए कांग्रेस ने सचिन पायलट की लैंडिंग कराई है। दरअसल राज्य की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है जिसमें से 16 सीटें ऐसी जो सिंधिया के गढ़ यानी ग्वालियर और चंबल प्रभाग से आती हैं। इन 16 सीटों में से 9 सीटें तो गुर्जर बाहुल हैं तो ऐसे में सिंधिया को चुनौती देने के लिए कांग्रेस पायलट को लाई है।

नकुलनाथ और सोनिया का नाम गायब
कांग्रेस के 30 स्टार प्रचारकों की सूची में सबसे हैरानी की बात ये है कि इसमें प्रचारकों के तौर पर सोनिया गांधी और कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ को शामिल नहीं किया गया है। जिसके बाद सवाल उठते हैं कि आखिर कांग्रेस अध्यक्ष खुद प्रचार की कमान क्यों नहीं संभाल रही हैं। युवा चेहरे के तौर पर कांग्रेस नकुल नाथ को क्यों नहीं उतार रही है। इस सवाल का जवाब अब तक कांग्रेस की ओर से नहीं दिया गया है।

भाजपा ने कांग्रेस की सूची पर कसा तंज
वहीं कांग्रेस की सूची पर भाजपा ने तंज कसा है। भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस की स्टार प्रचारकों की सूची में प्रदेश के इकलौते लोकसभा सांसद नकुल नाथ जी गायब हैं जो स्वयं यह कहते थे कि उपचुनाव में वे युवाओं के बीच में प्रचार की जिम्मेदारी संभालेंगे और बाकी पूर्व मंत्री गण उनके सहयोगी होंगे।

भाजपा ने सिंधिया को दी 10वें नंबर पर जगह
आपको बता दें कि कांग्रेस से पहले भाजपा ने 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की थी। भाजपा की ओर से जारी की गई उपचुनाव में स्टार प्रचारकों की सूची में कुल 30 भाजपा के कद्दावर नेताओं के नाम हैं। इसमें पहला नाम भाजपा प्रदेश विष्णु दत्त शर्मा का नाम है। जबकि दूसरे नंबर पर शिवराज सिंह चौहान हैं। लिस्ट में तीसरे नंबर पर दुष्यंत कुमार गौतम का नाम है। विनय सहस्त्रबुद्धे का नाम चौथे नंबर हैं, जबकि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का नाम है। इस लिस्ट में ज्योतिरादित्य सिंधिया को दसवें स्थान पर रखा गया है।

पीएम मोदी या शाह का नाम नहीं
भाजपा की लिस्ट में एक और चौंकाने वाली बात है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का भी नाम नहीं है। यानी यह तय माना जा रहा है कि नाक का सवाल बना यह उपचुनाव भाजपा बिना पीएम के फेस से ही लडऩा चाह रही है।
विनोद/ईएमएस/17/10/2020