राष्ट्रीय

विंग कमांडर अभिनंदन का इलाज हुआ खत्म, 3 हफ्ते की सिक लीव पर जाएंगे

15/03/2019

नई दिल्ली(ईएमएस)। विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सामान्य स्थिति में लाने के उद्देश्य से लगभग दो हफ्ते तक चली प्रक्रिया भारतीय वायुसेना और सुरक्षा एजेंसियों ने पूरी कर ली है। बता दें कि पायलट अभिनंदन ने 27 फरवरी को पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर प्लेन को मार गिराया था। इस दौरान उनका मिग-21 बाइसन प्लेन भी क्रैश हो गया था। जब‎कि वह प्लेन से सुरक्षित बच निकलने में कामयाब रहे थे, ले‎किन पीओके में उतरने के कारण उन्हें पाकिस्तानी सेना ने ‎हिरासत में ले लिया था। अधिकारियों ने बताया कि भारतीय वायुसेना के पायलट का इलाज अब समाप्त हो गया है और वह ड्यूटी पर लौटने से पहले कम से कम तीन सप्ताह के लिए सिक लीव पर जाएंगे। उन्होंने कहा कि वायुसेना द्वारा गठित एक मेडिकल बोर्ड उनकी फिटनेस की समीक्षा करेगा ताकि बल के शीर्ष अधिकारियों को यह निर्णय लेने में सहायता मिल सके कि वह लड़ाकू विमान के कॉकपिट में लौट सकते हैं या नहीं।
पाकिस्तान द्वारा मानसिक तौर पर प्रताड़ित किए जाने के बाद भी अभिनंदन का जज्बा बरकरार है। उन्होंने जल्द से जल्द कॉकपिट में लौटने की इच्छा जताई है। सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा कूलिंग डाउन प्रक्रिया (उन्हें सामान्य बनाने की प्रक्रिया) के तहत उनकी डि-ब्रीफिंग की गई। भारत के भारी दबाव और सीमा पर बढ़े तनाव के बाद पाकिस्तान ने करीब 60 घंटे बाद 1 मार्च की रात में अभिनंदन को छोड़ दिया था। पाकिस्तान द्वारा सौंपे जाने के बाद आईएएफ पायलट को दिल्ली में पहले एयर फोर्स के अस्पताल ले जाया गया था और व्यापक जांच की गई थी। इसके बाद उन्हें सेना के रिसर्च रेफरल हॉस्पिटल ले जाया गया। गौरतलब है कि पाकिस्तान की हिरासत में होने के बावजूद अभिनंदन ने अदम्य साहस का परिचय दिया था। उन्होंने पाक अफसरों को उतना ही जवाब दिया जितना एक आईएएफ पायलट को देना चाहिए।
मिथलेश / ईएमएस / 15 मार्च 2019