अंतरराष्ट्रीय

मंकीपॉक्स को लेकर अमेरिका में सेक्स को लेकर विचित्र गाडलाइन जारी

18/06/2022

मंकीपॉक्स पीडित मरीज को सेक्स नहीं करना चाहिए
अमेरिका (ईएमएस)। यूरोप और अमेरिका सहित दुनिया के कई देशों में मंकीपॉक्स फैल रहा है। इस बीच अमेरिकी एजेंसी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीएस) ने सेक्स को लेकर विचित्र गाइडलाइन जारी की है। दरअसल मंकीपॉक्स का एक रोगी सेक्स के जरिए अपने पार्टनर को भी संक्रमित कर सकता है। इसकारण सीडीसी ने कहा था कि जिस किसी को मंकीपॉक्स है, उन्हें सेक्स नहीं करना चाहिए। लेकिन कई इसतरह के मामले आए हैं, जिसमें लोगों ने सीडीसी की सलाह को नजरअंदाज किया। अब सीडीसी ने मंकीपॉक्स से संक्रमितों को सेक्स से जुड़ी गाइडलाइन जारी की है।
सीडीसी की गाइडलाइन के मुताबिक मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति को अपने पार्टनर के साथ पूरे कपड़े पहन कर सेक्स करना चाहिए। सीडीसी ने कहा है कि इस दौरान शरीर के सभी चकत्ते ढंके होने चाहिए। सीडीसी का कहना है कि मंकीपॉक्स के रोगी को अपने पार्टनर को चूमना नहीं चाहिए। सीडीसी कहता है कि सेक्स के तुरंत बाद दूसरे पार्टनर को नहाना चाहिए और कपड़े, चादर धोना चाहिए। हालांकि सीडीसी ने इसपर जोर दिया है कि संक्रमित को फोन सेक्स पर विचार करना चाहिए।
मंकीपॉक्स शरीर पर होने वाले घावों को छूने से बढ़ सकता है। इसके अलावा हवा के माध्यम से भी ये फैल सकता है। अगर किसी को मंकीपॉक्स हो जाए,तब लक्षण दिखने में करीब दो हफ्ते लग जाते हैं। सबसे पहला लक्षण फ्लू जैसा होगा। इसमें संक्रमित व्यक्ति को बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और पीठ दर्द, ठंड और थकावट का अहसास होगा। इन लक्षणों के शुरू होते ही 1-3 दिनों के भीतर शरीर पर चेचक की ही तरह लेकिन आकार में बड़े चकत्ते दिखने लगते हैं। कई बार ये दर्दनाक और खुजली भरे हो सकते हैं। इनमें से कुछ या सभी लक्षण दिख सकते हैं।
आशीष,/ईएमएस 18 जून 2022