अंतरराष्ट्रीय

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस ने दी चेतावनी- भरी बंदूक से खेल रही है मानवता

06/08/2022

-हिरोशिमा परमाणु बम हमले की 77वीं बरसी आज
हिरोशिमा (ईएमएस)। जपान के शहर हिरोशिमा पर अमेरिका के परमाणु बम हमले की आज शनिवार को 77वीं बरसी है। इस मौके पर शहर में पीस मेमोरियल पार्क में वार्षिक समारोह आयोजित किया गया। समारोह में संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुतारेस ने भी हिस्सा लिया। इससे पहले बान की-मून 2010 में हिरोशिमा में एटम बम के हमले की बरसी पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे।
6 अगस्त, 1945 को हिरोशिमा के ऊपर अमेरिकी बमवर्षक विमान से एटम बम गिराया गया था, जिसमें एक अनुमान के हिसाब से 140,000 लोग मारे गए थे। मुताबिक आज के कार्यक्रम में 98 देशों और यूरोपीय संघ के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। जबकि यूक्रेन पर हमला करने वाले रूस और उसके मददगार बेलारूस को आमंत्रित नहीं किया गया था। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने कहा कि मानवता एक भरी हुई बंदूक से खेल रही है। क्योंकि दुनिया भर में परमाणु संकट और फैलने की आशंका बढ़ती जा रही है। गुटेरेस ने यूक्रेन, मध्य पूर्व और कोरियाई प्रायद्वीप में मौजूदा संकट से पैदा होने वाले परमाणु जोखिम के बढ़ने की चेतावनी दी।
गुतारेस ने हिरोशिमा द्वारा सहन की गई भयावहता का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि ‘इस शहर में पलक झपकते ही हजारों लोग मारे गए। महिलाओं, बच्चों और पुरुषों की मौत नारकीय आग में जलने से हो गई। बचे लोगों को कैंसर और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ा। गुतारेस ने कहा कि ‘हमें पूछना चाहिए कि इस शहर के ऊपर गिरने वाले एटम बम के बाद से हमने क्या सीखा है?
गौरतलब है कि 6 अगस्त, 1945 को अमेरिका ने हिरोशिमा पर परमाणु बम गिराया था। जिसमें लगभग 140,000 लोग मारे गए थे। इसमें वे लोग शामिल हैं, जो एटम बम के हमले के बाद फैले विकिरण से हुए रोगों के कारण मारे गए थे। हिरोशिमा पर बमबारी के तीन दिन बाद अमेरिका ने जापान के बंदरगाह शहर नागासाकी पर एक और एटम बम गिराया। जिसमें लगभग 74, 000 लोग मारे गए। इसके साथ ही द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति हुई।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 06 अगस्त 2022