खेल

पंड्या का परिवार 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स दान करेगा

02/05/2021

नई दिल्ली (ईएमएस)। कोरोना महामारी की दूसरी लहर से देश बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ऑक्सीजन नहीं मिलने से कई लोग जान गंवा चुके हैं। ऐसी स्थिति में क्रिकेटर हार्दिक पंड्या के परिवार ने ग्रामीण क्षेत्र के लिए 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स दान करने का फैसला किया है। इससे पहले सचिन तेंदुलकर एक करोड़ और दिल्ली कैपिटल्स फ्रेंचाइजी 2.50 करोड़ रुपए दान कर चुके हैं। ऑलराउंडर हार्दिक और उनके भाई क्रुणाल पंड्या मुंबई इंडियंस टीम के लिए खेलते हैं। इस समय भी वे टूर्नामेंट ही खेल रहे हैं। शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मैच से पहले हार्दिक ने 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स दान करने की बात कही।
मैंने, क्रुणाल और खासकर मां ने मदद का फैसला किया: हार्दिक
हार्दिक ने कहा कि हमने ग्रामीण क्षेत्र के लिए 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स दान करने का फैसला किया है। मेरा मानना है कि ग्रामीण क्षेत्र में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की काफी जरूरत है। हमारे देश में जो हालात हैं, उसे हम सभी बेहतर जानते हैं। फ्रंट लाइन वर्कर्स, मेडिकल स्टाफ और पुलिस समेत वह हर व्यक्ति जो इस हालात में कोरोना से लड़ रहा है। उन सभी के हम बहुत आभारी हैं। हालात को देखते हुए क्रुणाल, मैंने और खासकर मेरी मां ने भी हमारी तरफ से कुछ मदद करने का फैसला किया।
मिशन ऑक्सीजन ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी
मिशन ऑक्सीजन ने सोशल मीडिया पर बताया कि संस्था को सचिन तेंदुलकर से 1 करोड़ रुपए का डोनेशन मिला है। यह संस्था 250 से ज्यादा युवा उद्यमियों से मिलकर बनी है। यह विदेश से ऑक्सीजन कंसनट्रेटर आयात कर अस्पतालों को मुहैया करा रही है। सचिन ने भी इस संस्था के बारे में सोशल मीडिया पर जानकारी दी है। दूसरी ओर दिल्ली कैपिटल्स ने दिल्ली एनसीआर के एनजीओ हेमकुंत फाउंडेशन और उदय फाउंडेशन को 1.5 करोड़ रुपए का डोनेशन दिया है। ये संस्थाएं ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर कोरोना के इलाज में काम आने वाले अन्य मेडिकल उपकरण मुहैया कराने के काम में जुटी हैं।
ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ियों ने की थी शुरुआत
क्रिकेट खिलाड़ियों में भारतवासियों की मदद की पहल ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने की थी। उन्होंने 50 हजार डॉलर (करीब 37 लाख रुपए) पीएम केयर्स फंड में डोनेट किया। इसके बाद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने 1 बिट कॉइन (करीब 41 लाख रुपए) का डोनेशन दिया था। उसके बाद से ही भारतीय सितारों की आलोचना हो रही थी कि वे मदद के लिए आगे क्यों नहीं आ रहे हैं।
एसएस/02मई/ईएमएस