क्षेत्रीय

जनसुनवाई रही बंद, कलेक्ट्रेट के बाहर लिए आवेदन

12/03/2019

संबंधित विभागों को फोन लगाकर दी शिकायतों की जानकारी, निराकरण के निर्देश
अशोकनगर (ईएमएस)। बीती रविवार की शाम लोकसभा चुनावों की तारीख घोषित होते ही जिले में आदर्श अचार संहिता लागू हो गई है। इसी के साथ मंगलवार को होने वाले जनसुनवाई भी चुनाव सम्पन्न होने तक के लिए बंद कर दी गई है। लेकिन लोगों की इस संबंध में जानकारी नहीं होने की बजह से मंगलवार की सुबह बड़ी संख्या में आवेदक अपनी समस्याएं लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचने लगे। वहीं कलेक्ट्रेट के मुख्य गेट के बाहर आवेदकों की बढ़ती भीड़ को देखा तो नाक तहसीलदारों को भेजकर लोगों की समस्याओं का निराकरण करवाया गया। नाक तहसीलदार कमल मडलोई एवं दीपक धाकड़ ने बताया कि सभी समस्याओं को लेकर आवेदन लिए गए हैं और आवेदन के निराकरण के लिए संबंधित ऐजेंसियों को निर्देर्शित किया गया है।
मेहमूदा के आदिवासीओं को नहीं मिल रहा योजनाओं का लाभ:
मंगलवार को नईसरायं तहसील के अन्तर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मेहमूदा की आदिवासी महिलाएं बड़ी संख्या में एकत्रित होकर कलेक्ट्रेट पहुंची। अपनी शिकायत लेकर पहुंची महिलाओं द्वारा बताया गया कि उन्हे सरकार द्वारा संचालित किसी भी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। वहीं आदिवासी चक्क खानपुर निवासी महिला कुसुम बाई, विनोद बाई, अनीता बाई, कमलेश बाई आदि ने सरपंच, सचिव पर मनमानी के आरोप लगाते हुए बताया किसरपंच, सचिव मानमानी की वजह से उन्हे हर महीने मिलने वाले सब्जी, भाजी के पैसे नहीं मिल रहे हैं। महिलाओं ने बताया कि उन्हे कुटीरों का लाभ भी दिया जा रहा है, न ही विधवा पेंशन का लाभ नहीं मिल रहा है। वहीं महिलाओं द्वारा सबसे बड़ी संख्या पेयजल की बताई गई। महिलाओं ने आरोप लगाया कि गांव में पीने के पानी व्यवस्था नहीं है। जिसकी वजह से गांव से काफी दूर जाकर और गड्डों में भरे पानी से काम चला रहे हैं। महिलाओं ने बताया कि गड्डों में भरा पानी काफी गंदा है लेकिन काई और व्यवस्था न होने की वजह से मजबूरी में उसी पानी का उपयोग करना पड़ रहा है।
प्रवीण/12/03/2019