राज्य समाचार

राजधानी में 1500 स्थानों पर होगा होलिका दहन

14/03/2019


होलिका प्रतिमाओं का निर्माण जोरों पर
भोपाल (ईएमएस)। होली पर्व के अवसर पर राजधानी में करीब 1500 स्थानों पर होलिका दहन होगा। होलिका पर्व मनाने को लेकर शहर में तैयारियों जोरों पर चल रही हैं। होलिका की प्रतिमाओं का निर्माण भी तेजी से चल रहा है। घासफूस और मिट्टी से इन प्रतिमाओं को बनाया जा रहा है। विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाएं अपने स्तर पर आयोजन की तैयारी कर रही हैं। होलिका दहन को लेकर प्लेटिनम प्लाजा के पास सरकारी बंगलों में बड़ी संख्या में प्रतिमा बनाई जा रही हैं। इसके अलावा मंगलवारा सहित अन्य स्थानों पर भी होलिका की प्रतिमा बनाई जा रही हैं।इस साल 20 मार्च को होलिका दहन होगा। होलिका दहन के दिन पवित्र अग्नि जलाई जाती है, जो बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है।
पौराणिक कथा के अनुसार, हिरण्यकश्यप अभिमानी राजा था। वह खुद को भगवान समझता था और चाहता था कि सभी उसकी पूजा करें। लेकिन पुत्र प्रहलाद ने ही पिता की अज्ञा न मानकर भगवान विष्णु की पूजा की। इससे नाराज हिरण्यकश्यप ने बहन होलिका से प्रहलाद को लेकर अग्नि में बैठक कर जलाकर मारने को कहा। होलिका के पास आग में न जलने का वरदान था। लेकिन भगवना विष्णु ने भक्त प्रहलाद की रक्षा की और होलिका आग में जल गई। मान्यता है कि तभी से होलिका दहन का आयोजन हो रहा है। राजधानी के ज्योतिषाचार्य के अनुसार, होलिका दहन 20 मार्च बुधवार को संपन्न होगा। अगले दिन यानी, 21 मार्च गुरुवार को होली मनाई जाएगी। 20 मार्च को होलिका दहन का मुहूर्त रात्रि 8.58 से 12.23 तक (अवधि-3 घंटे 25 मिनट)। भद्रा मुख-6.35 से 8.17 तक है। भद्रा -5.34 से 6.35 तक है।
सुदामा नर-वरे/14मार्च2019