अंतरराष्ट्रीय

चिकित्सा के क्षेत्र में 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से मिला साल-2019 का नोबल

07/10/2019

स्कॉटहोम (ईएमएस)। विज्ञान, साहित्य और शांति के लिए प्रदान किए जाने वाले वैश्विक प्रतिष्ठित नोबल पुरस्कारों को देने का सिलसिला शुरू हो गया है। स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में 2019 के लिए नोबेल पुरस्कारों की घोषणा आज से शुरू हो गई है। आज इस साल का पहला नोबेल पुरस्कार चिकित्सा के क्षेत्र में देने का ऐलान किया गया है। अमेरिका के विलियम जी. केलिन जूनियर और ब्रिटेन के सर पीटर जे. रेटक्लिफ और अमेरिका के ग्रेग एल सेमेन्जा को संयुक्त रूप से प्रतिष्ठित सम्मान दिया गया है। इन तीनों ही विजेताओं को शरीर की कोशिकाओं में जीवन और ऑक्सिजन को ग्रहण करने की क्षमता में किए महत्वपूर्ण खोज के लिए यह पुरस्कार दिया जा रहा है। ज्यूरी ने कहा, 'उन्होंने (तीनों विजेता) हमारी इस समझ के लिए आधार तैयार किया कि किस तरह ऑक्सिजन के स्तर कोशिकीय चयापचय और शारीरिक कार्यप्रणाली को प्रभावित करते हैं।' उसने कहा, 'इस खोज ने एनीमिया, कैंसर और अन्य कई रोगों से लड़ने के लिए नई रणनीतियों का मार्ग प्रशस्त किया है।' मेडिकल क्षेत्र के नोबेल पुरस्कारों के ऐलान के बाद अब 14 अक्टूबर तक 6 अन्य क्षेत्रों जैसे भौतिकी, रसायन, साहित्य, शांति आदि के विजेताओं का ऐलान किया जाएगा।
पिछले साल आईएस की सेक्स स्लेव रह चुकीं नादिया मुराद को शांति क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार दिया गया था। आईएस के चंगुल से छूटने के बाद से नादिया लगातार महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए काम कर रही हैं। इस बार पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन के लिए दुनियाभर में पहचान बनानेवालीं ग्रेटा थुन्बर्ग को इस पुरस्कार का दावेदार माना जा रहा है। इस साल साहित्य के एक साथ 2 नोबेल पुरस्कार दिए जाएंगे। पिछले साल यौन शोषण के आरोप और वित्तीय अनियमितताओं के कारण साहित्य के क्षेत्र में प्रतिष्ठित पुरस्कार का ऐलान नहीं किया गया था। 70 वर्षो में यह पहला मौका था जब साहित्य का नोबेल नहीं दिया गया था। यौन शोषण के आरोपों के बाद अकादमी के 18 सदस्यों में से 7 ने इस्तीफा दे दिया था।
विपिन/ ईएमएस/ 07 अक्टूबर 2019