राज्य समाचार

भोजताल के आसपास मंडरा रहे हजारों प्रवासी पक्षी

09/01/2019

- बर्डस प्रेमियों में पैदा कर रहे रोमांच
भोपाल (ईएमएस)। राजधानी की बडी झील (भोज ताल) के आसपास मंडराने वाले प्रवासी पक्षी हजारों किलोमीटर का सफर तय कर पहुंचे हैं। जब ये झूंड में शामिल होकर खुले आसमान में उडान भरते है तो इन्हें देखना एक अलग तरह का रोमांच पैदा करता है। ऐसे विदेशी प्रवासी पक्षियों को चिन्हित करने के लिए भोपाल बर्डस संस्था द्वारा बीते दिनों कैंप का आयोजन किया गया। इनमें नॉर्थेर्न शोवलर, ग्रे लेग गूस, स्पॉट बिल डक, कॉमन कूट, स्पॉटेड ईगल, कॉमन पोचार्ड, रेड क्रेस्टेड पोचार्ड, कोंब डक, ब्लैक रेड्स्टार्ट, एशियाई ब्राउन फ्लाईकैचर को प्रमुख रूप से चिन्हित किया गया। भोपाल बर्ड्‌स संस्था की ओर से कल सारस जैवविविधता केंद्र नथुबरखेड़ा में बर्ड वॉचिंग कैंप का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य भोजताल में आने वाले प्रवासी पक्षियों को चिन्हित करना था। कार्यक्रम में 25 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम की शुरुआत सुबह 6.30 बजे हुई। प्रथम सत्र में प्रतिभागियों को पक्षियों को पहचानने की जानकारी दी। उन्होंने सभी प्रतिभागियों को पक्षी दर्शन के बारे में जानकारी दी।
प्रतिभागियों को समूह में अलग-अलग स्थानों पर पक्षी दर्शन के लिए भेजा गया था, सुबह-सुबह सबसे पहले प्रतिभागियों को पक्षी दर्शन के दौरान पक्षियों के जोड़े दिखे। जिसे देख सभी प्रतिभागी रोमांचित हो गए। वॉक के दौरान प्रवासी पक्षियों में वेडर्स पक्षी हजारों की संख्या में देखे गए। प्रतिभागियों ने ब्लैक टेल्ड गोडविट, बार टेल्ड गोडविट, मार्श सैंडपाइपर, ग्रीन सैंडपाइपर, ब्लैक हेडेड आइबिस, ग्लॉसी आइबिस, कॉमन इसनाइप, लिटिल रिंग प्लोवर पक्षी प्रजातियों को देखा। प्रतिभागियों ने प्रवासी पक्षियों के झुंड देखे। कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञ के रूप में डॉ. संगीता राजगीर, डॉ. मनोज कुमार शर्मा, मो.खालिक उपस्थित थे। कार्यक्रम में विएनएस नेचर सेवियर्स क्लब के डॉ. डीके स्वामी, डॉ. विपिन धोटे, डॉ. एसके पाण्डेय, सारस जैवविविधता केंद्र के गोविंद सिंह मेवाड़ा, शोभित कौशिक आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।
सुदामा/09जनवरी2019