राज्य समाचार

(छतरपुर) वास्तविक किसान बीज योजना से वंचित

06/12/2018

अलीपुरा (ईएमएस)। क्षेत्र के बड़ागांव सेवा सहकारी समिति में किसानें को बांटने के लिए आए बीज को ग्राम सेवक ने अपने चहेतें तक पहुंचा दिया है जिससे वास्तविक किसान इस योजना से वंचित रहे। ग्रामीणें ने ग्राम सेवक पर गंभीर आरोप लगाए हैं।
ग्रामीणें ने बताया कि ग्राम सेवक अंबिका प्रसाद तिवारी द्वारा बड़ागांव समिति के 7 गांव के किसानें को बांटे जाने के लिए आए 20 क्विंटल गेहूं एवं 16 क्विंटल चने के बीज को अपने खास लोगों तक पहुंचा दिया गया है। किसान प्रशांत सोनकिया, अशोक पटेल, भान सिंह यादव, महेन्द्र यादव, ब्रजेश पटैरिया, ब्रजकिशोर विश्वकर्मा आदि ने बताया कि नौगांव कृषि विभाग कार्यालय से ग्राम सेवक द्वारा जो बीज लाया गया था उस बीज को उन तक नहीं पहुंचाया गया। किसानें को ऊंचे दामें पर बीज खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ा। वैसे तो किसानों को बीज पहुंचाने के लिए तमाम तकनीकि पहलुआंð से गुजरना पड़ता है लेकिन इसके बावजूद वास्तविक किसान बीज से वंचित रह गए। फर्जी सूची बनाकर उनके नाम से बीज बांट दिया गया है। ग्राम सेवक पर आरोप है कि उसके द्वारा पचवारा में बीज उतारकर बांटा गया है। उधर ग्राम सेवक श्री तिवारी का कहना है कि सीमित मात्रा में बीज आने के कारण एक माह पहले ही गेहूं और चने की बीज बड़ागांव सोसायटी के 7 गांवें में बेचा गया है। प्रत्येक गांव के लिए 5 से 6 किसानें को यह बीज दिया गया है। किसानें से सब्सिडी काटकर राशि ली गई है उनके ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं वे झूठे हैं। समिति प्रबंधक हीरालाल विश्वकर्मा ने बताया कि किसानें के लिए बीज की कोई डिमाण्ड नहीं आयी इस कारण समिति में बीज उपलब्ध होने का कोई सवाल ही नहीं है। कृषि विभाग द्वारा ग्राम सेवक के माध्यम से यह बीज बेचा गया है।
इनका कहना-
बीज ग्राम योजना अंतर्गत नगद वितरण के लिए ग्राम सेवक को 50 बोरी गेहूं तथा 55 बोरी चने का बीज दिया गया था। सब्सिडी काटकर गांव के कुछ किसानें को बीज दिया गया जिसकी सूची बड़ागांव ग्राम सेवक से ली जा रही है। गड़बड़ी होने पर कार्यवाही होगी।
एसके मिश्रा, कृषि विकास अधिकारी, नौगांव
ईएमएस/ चन्द्रबली सिंह / 06 दिसम्बर 2018