क्षेत्रीय

पात्र हितग्राही बेटियां लाडली लक्ष्मी योजना के लाभ से वंचित न रहे : महापौर श्रीमती राय

22/09/2022

भोपाल (ईएमएस)।महापौर श्रीमती मालती राय ने रवीन्द्र भवन में मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के अंतर्गत लाड़ली लक्ष्मी योजना की हितग्राही बालिकाओं और अभिभावकों के सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा अनुरूप कोई भी पात्र बेटी लाडली लक्ष्मी योजना के लाभ से वंचित न रहे। इस अवसर पर कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा कि भोपाल जिले में 01 लाख 34 हजार लाड़ली लक्ष्मी बेटियों को लाभ दिया जा रहा है। श्री लवानिया ने कहा कि इस वर्ष लाड़ली लक्ष्मी योजना में 05 करोड़ 60 लाख रूपए की राशि योजनांतर्गत दी जाएगी। सम्मेलन में महापौर श्रीमती राय ने उपस्थितजन को बेटियों का ध्यान रखने हेतु शपथ दिलाई। कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र, बालिकाओं को ड्रायविंग लाइसेंस वितरित किए गए और केवल एक बेटी वाले अभिभावकों को भी सम्मानित किया गया।
सम्मेलन के शुभारंभ अवसर पर निगम परिषद अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस.चौधरी सहित बड़ी संख्या में लाडली लक्ष्मी योजना की हितग्राही बेटियां व अभिभावक तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
कार्यक्रम का शुभारंभ महापौर श्रीमती मालती राय ने कन्या पूजन एवं दीप प्रज्ज्वलन कर किया। इस अवसर पर महापौर श्रीमती राय ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से समाज के प्रत्येक वर्ग के पात्र हितग्राहियों को अलग-अलग योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है, उन्हीं योजनाओं में से एक लाडली लक्ष्मी योजना भी है। श्रीमती राय ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप इस योजना के लाभ से कोई भी पात्र बेटी वंचित न रहे। कार्यक्रम में महापौर श्रीमती मालती राय ने उपस्थितजन को बेटियों का ध्यान रखने हेतु शपथ दिलाई।
कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा कि बेटियों के जन्म पर प्रसन्नता और खुशी होनी चाहिए। श्री लवानिया ने कहा कि ”बेटियां अब बोझ नहीं वरदान हैं“। राज्य सरकार ने बेटियों के लिए लाड़ली लक्ष्मी जैसी योजना बनाकर उन्हें आत्म निर्भर बनाया है। श्री लवानिया ने कहा कि शासन की इस योजना का सभी अभिभावक आगे आकर लाभ उठाएं। इस योजना में कोई भी पात्र परिवार बेटियों के लाभ से वंचित न हो। इसके लिए मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान में अब न छूटे हितग्राही कार्यक्रम चलाया जा रहा है।
”माँ तुझे सलाम“ योजना के अंतर्गत वाघा सीमा -हुसैनीवाला (पंजाब) भ्रमण पर गई बालिकाओं द्वारा अपने अनुभव सांझा किए गए। बालिकाओं ने बताया कि बार्डर पर सैनिक एवं आमब के लोगों से मिलकर एक नई उर्जा का संचार हुआ और देश प्रेम की भावना जागृत होती है। बालिकाओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का वाघा बार्डर भेजने के लिए धन्यवाद किया।
राज्य सरकार द्वारा प्रदेश की 196 स्कूलों की बालिकाओं को माँ तुझे सलाम योजना के अंतर्गत देश की सीमाओं पर भेजा गया था। कार्यक्रम में मार्शल आर्टस से प्रशिक्षित बालिकाओं द्वारा अपनी कला का प्रदर्शन किया गया जिसमें यह संदेश दिया गया कि बालिकाएं अपनी सुरक्षा कैसे कर सकती है। उन्होंने अन्य बालिकाओं को प्रेरित भी किया कि वह भी इसका प्रशिक्षण प्राप्त कर आत्म सुरक्षा करने में सक्षम बनें। कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र का वितरण किया गया। बालिकाओं को ड्रायविंग लाइसेंस भी वितरित किए गए। ऐसे अभिभावकों एवं जिनकी केवल एक ही बेटी है उनका भी सम्मान किया गया। कार्यक्रम के अंत में महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा आभार व्यक्त किया गया।
धर्मेन्द्र, 22 सितम्बर, 2022