क्षेत्रीय

प्रदेश को हरा भरा बनानें हेतु सभी लोग करें वृक्षारोपण- सुश्री मीना सिंह

15/07/2020

उमरिया (ईएमएस)। प्रदेश शासन की आदिम जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह ने आज जिले की पाली जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत मलिया गुड़ा में मनरेगा योजना के तहत संजय गांधी ताप विद्युत अस्पताल तिराहा के पास फलदार पौध रोपित किए। यहां पर आम, कटहल, आंवला, सीताफल और अमरूद के पौध रोपित किए गए है। वृक्षारोपण कार्यक्रम में दिलीप पाण्डेय, मुख्य अभियंता संजय गांधी ताप विद्युत केंद्र व्ही के कैथवार, अधीक्षण अभियंता ऋशभ जैन, सुशील तिवारी , सीईओ जनपद पंचायत पाली दीक्षा जैन, नगर निरीक्षक आर के धारिया, सरपंच मलियागुडा लोकनाथ सिंह, मण्डल संयोजक श्रवण चतुर्वेदी, बृजेंद्र सिंह, ग्राम पंचायत के पंच गण , ताप विद्युत केन्द्र के अधिकारी तथा जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया।
आदिम जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह ने कहा कि वृक्षों से मानव जीवन की सभी आवश्यकताएं पूरी होती है। जन्म से लेकर अंतिम संस्कार तक ये वृक्ष उपयोगी है। वृक्ष जहां प्राण दायिनी आक्सीजन प्रदान करते हैं वहीं पर्यावरण का संरक्षण भी करते है। आपनें जिलावासियों से अपील की है कि श्रावण मास में वृक्षारोपण कर उमरिया जिले को हरा भरा बनानें में सहभागी बनें। आपने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को वृक्षारोपण करने के साथ ही उनकी सुरक्षा का भी संकल्प लेना चाहिए। वृक्षों की रक्षा जीवन की रक्षा है।
प्रदेश शासन की आदिम जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सबकी चिंता करते है। उन्होंने कोरोना संक्रमण काल में भी आम जन के हित में कई योजनाएं बनाई है एवं प्रदेश सरकार द्वारा उन्हें क्रियान्वित किया जा रहा है। योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करनें हेतु वे स्वयं वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से हितग्राहियों से चर्चा करते है। उन्होने कहा कि उन्हीं के निर्देश पर प्रदेश के सभी मंत्रीगण भ्रमण कर योजनाओ के क्रियान्वयन की जानकारी प्राप्त कर रहे है। आपने कहा कि रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से प्रवासी एवं स्थानीय लोगों को स्थायी रोजगार से जोडने की पहल प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है। इसी तरह शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में फुटपाथ पर व्यवसाय करने वाले लोगों को 10 हजार रूपये तक का ब्याज मुक्त ऋण देने का प्रावधान किया गया है। जिससे लाक डाउन के दौरान जिन फुटपाथ व्यापारियों के व्यवसाय आर्थिक अभाव के कारण शुरू नही हो पा रहे थे, वे पुन: प्रारंभ कर सके। प्रदेश सरकार ने आत्म निर्भर मध्यप्रदेश बनानें का संकल्प लिया है। सभी लोग मेहनत करें तथा प्रदेश को आत्म निर्भर बनानें में सहयोग प्रदान करे। प्रदेश सरकार हर संभव मदद के लिए तैयार है।
प्रवीण/15/07/2020