क्षेत्रीय

(मुरैना) जमीनी हकीकत पर काम करने वाले बानमोर नगर परिषद के सीएमओ को स्थानांतरण कर दी है सजा

22/02/2021

मुरैना (ईएमएस) । प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश में सुशासन लाने की बात कही है वही वह प्रदेश में जब भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा अधिकारियों से बात करते हैंतो उनका का एक ही रटा हुआ एक ही जवाब होता है कि मेरा किसी अधिकारी से कोई राग द्वेष नहीं है जो अधिकारी अच्छे परिणाम देंगे। वही फील्ड में काम करेंगे। परंतु मुरैना जिले के बानमोर नगर परिषद में एक नया यह मामला सामने आया हैकि वहां पर पदस्थ सीएमओ अशोक बंसल को रातों-रात हटा दिया गया, जबकि भाजपा मंडल के पदाधिकारियों सहित स्थानी निवासियों ने उनकी कार्यकुशलता व व्यवहारिकता की तारीफ करते हुए मुरैना प्रवास के दौरान नगरीय प्रशासन राज्यमंत्री ओ पी एस भदौरिया को एक आवेदन दिया था उसमें मांग की थी सीएमओ बंसल का स्थानांतरण ना किया जाए। क्योंकि वह हमारे शहर के विकास हित में होगा। एक और सरकार उनकी कार्यप्रणाली और कार्यकुशलता को देखते हुए उनको पुरस्कृत कर रही है वही रातों-रात पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष विमला भगवान सिंह एवं पूर्व विधायक रघुराज कंसाना की अनुशंसा पर स्थानांतरण किया जा रहा है उससे ऐसा प्रतीत होता है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छ भारत अभियान योजना का क्रियान्वयन मुख्य नगरपालिका अधिकारी अशोक बंसल द्वारा बानमोर शहर को नंबर वन बनाने के लिए योद्धा स्तर पर किया जा रहा था वह कार्य पूर्ण रूप से अवरुद्ध हो गया है
उल्लेखनीय है कि बानमोर नगर परिषद में जब से अशोक बंसल की पदस्थापना हुई है तब से नगर परिषद में स्वच्छता को लेकर विभिन्न कार्य तेज गति से प्रारंभ किए गए हैं परिणाम स्वरूप उन्हें राज्य स्तर पर जिले की सर्वश्रेष्ठ नगर परिषद परिषद घोषित किया गया है वही स्वच्छता रेटिंग में भी नगर परिषद बानमोर ने काफी इजाफा किया है जिसके परिणाम स्वरूप नगर परिषद बानमोर का सम्मान संपूर्ण प्रदेश में देखने को मिला है उनकी इस मेहनत का प्रतिफल देते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने बानमोर नगर परिषद को सम्मानित किया। किंतु अचानक ना जाने ऐसा क्या हुआ कि रातों-रात उन्हें राजनैतिक दबाव के चलते स्थानांतरण कर तत्काल रिलीव भी कर दिया गया। जैसे ही श्री बंसल को पद से हटाए जाने की चर्चा नगर में फैली तो गत 30 जनवरी को राज्य मंत्री नगरीय प्रशासन ओ पी एस भदौरिया को भाजपा के मंडल अध्यक्ष एवं व्यापार मंडल के लोगों ने उनसे गुहार लगाई की कार्य कौशल और व्यवहारिक सीएमओ को ना हटाया जावे। उसके बावजूद भी उन्हें रातोंरात हटा दिया गया। उनके आकस्मिक स्थानांतरण से सभी नगर वासी स्तब्ध है इससे राज्य सरकार की कार्यप्रणाली पर सवालिया प्रश्न उठ रहे हैं विदित हो कि गत 30 जनवरी 2021 को बानमोर प्रवास पर आए मध्य प्रदेश सरकार के राज्य मंत्रियों ओपी एस भदौरिया को बानमोर भाजपा मंडल अध्यक्ष रघुनाथ गुर्जर द्वारा पत्र देकर निवेदन किया गया।कि नगर परिषद सीएमओ अशोक बंसल का स्थानांतरण ना किया जाए क्योंकि उनकी कार्यकुशलता व व्यवहारिकता सराहनीय है उनके प्रयासों से ही नगर परिषद बामोर को स्वच्छता में सरकार की ओर से प्रशंसा पत्र दिया गया है उनके द्वारा सरकार के निर्देशन में नियमानुसार कार्य किया जाता रहा है श्री गुर्जर ने पत्र में आरोप लगाते हुए कहा कि तत्कालीन अध्यक्ष पति द्वारा स्वार्थ पूर्ति के चलते सीएमओ से अवैध कार्य कराने के लिए दबाव बनाया जाता है जबकि बंसल नियम विरुद्ध कोई कार्य नहीं करते जिस वजह से निजी स्वार्थ हेतु बसपा छोड़ भाजपा में शामिल हुए अध्यक्ष पति आएदिन श्री बंसल की शिकायत करते रहते हैं बानमोर नगर मंडल अध्यक्ष, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष ,व्यापार मंडल अध्यक्ष,व अन्य पदाधिकारियों ने मंत्री को दिए ज्ञापन में यह भी कहा है कि यदि उनका स्थानांतरण किया गया तो समस्त भाजपा मंडल का कार्यकर्ता पार्टी हेतु को छोड़ सकता है जो कि पार्टी के लिए काफी नुकसानदायक साबित होगा।
यदि नगर परिषद सीएमओ अशोक बंसल की कार्यप्रणाली की बात की जाए तो संपूर्ण जिले में वह एकमात्र ऐसे सीएमओ हैं जो दिन रात मेहनत कर नगर परिषद को बेहतर बनाने के लिए प्रयासरत रहते हैं उनके इसी प्रयास की बदौलत नगर परिषद को राज्य स्तर पर सम्मान मिला है अब राज्य शासन ने राजनैतिक दबाव के चलते उनका आकस्मिक स्थानांतरण कर दिया है अब देखना है कि नगर परिषद बानमोर पूर्व की तरह प्रगति पथ पर चलती है या पूर्व की तरह एक बार फिर वही पहुंच जाएगी जहां से काफी मेहनत करने के पश्चात सीएमओ श्री बंसल ने नगर परिषद को सम्मान दिलाया है।
मुकेश शर्मा/22फरवरी2021