राष्ट्रीय

एयर इंडिया के अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में अब लौटते समय मिलेगा भारतीय खाना

10/01/2019

नई दिल्ली(ईएमएस)। भारतीय खाने का लुत्फ अब से ‎विदश से लौटते वक्त भी फ्लाइट में ‎मिलेगा। नए साल में एयर इं‎डिया ने अपने या‎त्रियों को इस नई सु‎विधा को देने की तैयारी कर ली है। दरअसल इं‎डिया से उड़ान भरने वक्त तो यह सु‎विधा दी जाती थी। ले‎किन ‎विदेश से घर वापसी के दौरान भारतीय खाने का स्वाद नहीं ले पाते थे। एक तरफ जहां या‎त्रियों के ‎लिए फायदा हुआ है, वहीं दूसरी ओर एयर इंडिया का कैटरिंग खर्च भी कम होगा। एयर इंडिया के चेयरमैन प्रदीप सिंह खरोला ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि एयरलाइन अब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के कैटरिंग खर्च में कटौती करने के उद्देश्य से वापसी यात्रा के लिए भी भारत से ही खाद्य पदार्थ ले जाने लगी है।
उन्होंने बताया कि घाटे में चल रही एयरलाइन ने स्टॉकहोम, कोपेनहेगन, बर्मिघम और मैड्रिड की उड़ानों के लिए भारत से ही खाद्य पदार्थ लेकर चलना शुरू कर दिया है। इसका इस्तेमाल वह वापसी में यात्रियों के लिए कर रही है। उन्होंने बताया कि भारतीय शहरों की तुलना में विदेशी शहरों में खाद्य पदार्थ खरीदना काफी महंगा है। हमारी खानपान (कैटरिंग) की लागत 600 से 800 करोड़ रुपए सालाना है। भारत में कैटरिंग पश्चिमी देशों की तुलना 3 से 4 गुना सस्ती है। उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीने के भीतर एयर इंडिया खाड़ी देशों से आने वाली उड़ानों में भी भारत से ले जाया गया खाना परोसना शुरू कर देगी। अधिकारी ने कहा, इन सबके अलावा देखा जाये तो स्वाद 'सबसे जरूरी चीज है। आप कुछ भी कर लें, जब भारतीय व्यंजनों की बात हो तो यूरोपीय कैटरर के खाने फीके लगते हैं।' इससे पहले एयर इंडिया ने लागत कम करने के लिए जुलाई 2017 में इकॉनोमी श्रेणी के यात्रियों को घरेलू उड़ानों में मांसाहार परोसना बंद करने का फैसला लिया था।
‎मिथलेश / ईएमएस / 10 जनवरी 2019