क्षेत्रीय

शक्ति आराधना में रमा शहर

17/10/2020

पाण्डालों में विराजी दुर्गा प्रतिमाएं
अशोकनगर (ईएमएस)। भारतीय संस्कृति एवं हिंदू परंपराओं में विशेष महत्व के लिए पहचाने जाने वाले नवरात्रि महापर्व शनिवार से शुरू हो गया है। इस अवसर पर सुबह से ही घर-घर और मंदिरों में मां दुर्गा की पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया साथ ही 9 दिनों तक चलने वाले इस नवरात्रि महोत्सव में नगर सहित ग्रामीण अंचलों में माँ दुर्गा की भव्य झांकियां सजाई जा रही है।
नवरात्र पर्व के उपलक्ष्य में शहर भर में 9 दिनों तक धार्मिक आयोजन किए जाएंगे। जिनकी शुरूआत घट स्थापना के साथ की गई। पहले ही दिन शक्ति पीठों से लेकर घरों तक नवरात्रि पर्व का उत्साह दिखाई दिया। सुबह से ही नगरीय और ग्रामीण अंचल और सार्वजनिक स्थलों पर भी मां दुर्गा की प्रतिमाओं की घट स्थापना हो गई है। नवरात्रि के पूरे 9 दिन मां दुर्गा के विभिन्न रूपों की पूजा अर्चना श्रद्धालुओ द्वारा बड़े ही श्रद्धा भाव के साथ की जाएगी नगर में जगह-जगह मैया रानी के भव्य पांडाल सजाये गए है जिनमे बसस्टैंड, तुलसी पार्क, इन्दिरा पार्क, बजरिया मोहल्ला सहित कई जगह माता रानी के सुंदर पांडाल सजाकर माँ अम्बे को विराजमान किया गया है। शहर के देवी मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़तर दिखी। वाल्मीकि मोहल्ला स्थित शीतला माता मंदिर पर हर वर्ष कि तरह इस बार भी नवरात्रि पर्व का उत्साह शुरूआती दिन से ही दिखाई देने लगा। सुबह 4 बजे से श्रद्धालुओं का देवी मंदिर पर पहुंचना आरंभ हो गया। मंदिर में जलाभिषेक करने वाले भक्तों में सर्वाधिक तादाद महिलाओं व बच्चों की थी। शीतला माता मंदिर पर पहुंचकर श्रद्धालुओं ने शक्ति की देवी मां भगवती का जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की। इस मंदिर पर नवरात्रि के दिनों में प्रतिदिन सुबह इसी तरह का अपार जन समूह उमड़ता है। वहीं दूसरी ओर लोग देवी उपासना करते हुए घरों में भी रामायण, दुर्गा पाठ का आयोजन कर रहे हैं। इसके अलावा लोग मैहर, करोली धाम आदि धार्मिक स्थलों पर देवी दर्शन के लिए रवाना हुए।
देर शाम तक चला प्रतिमा स्थापना का दौर:
नवरात्रि का पहला दिन भक्तों के लिए पाण्डालों को सजाने में बीता। ज्यादातर पाण्डालों में प्रतिमा स्थापना का कार्यक्रम शाम को सम्पन्न किया गया। वैदिक मंत्रोच्चार के साथ देवी दुर्गा की प्रतिमाओं को पाण्डालों में विराजित किया गया। ग्रामीण क्षेत्रों से भी लोग ट्रैक्टर-ट्राली लेकर माता की प्रतिमाए लेने के लिए शहर में आए हुए थे। जिससे वायपास रोड़ के आस-पास ट्रैक्टर-ट्रालियों का जमाबड़ा लगा रहा। श्रद्धालु ट्रैक्टर-ट्राली में प्रतिमाएं लेकर अपने-अपने गांव की ओर रवाना हुए। इस दौरान श्रद्धालुओं के जयकारे और ढोल-नगाड़ों की आवाज गूंजती रही।
झांकियों में होंगे मां के दर्शन:
शहर में नवरात्र के अवसर पर लगाई गई झाकियों में भी मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई है। शनिवार को दिनभर झाकियों में दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना का दौर चलता रहा। शहर भर में करीब 100 झाकियां लगाई गईं। इनमें दुर्गा जी की प्रतिमा को स्थापित करने के लिए भक्त शहर ही नही बल्कि आसपास के जिलों से भी प्रतिमाएं लेकर आए हुए हैं। जिनमें मां दुर्गा के विभिन्न रूपों के दर्शन कर सकेंगे। जन सहयोग से लगाई गई इन झाकियों में आकर्षक साज-सज्जा एवं विद्युत की जग-मग रोशनी से भव्य झांकी पाण्डाल आयोजकों द्वारा तैयार किए गए हैं।
ओमप्रकाश/प्रवीण/17/10/2020