ट्रेंडिंग

कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के खिलाफ मोदी सरकार ने जंग छेड़ दी: दीपांकर भट्टाचार्या

01/12/2020

नई दिल्ली (ईएमएस)। माले महासचिव दीपांकर भट्टाचार्या ने कहा कि किसान विरोधी कृषि कानूनों के खिलाफ पूरा देश किसानों का नया शाहीनबाग बन रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के खिलाफ जंग छेड़ दी है। तीनों कृषि कानून लोकतंत्र की हत्याकर देश पर थोपे गये हैं। माले महासचिव सोमवार को पटना में कारगिल चौक पर विरोध सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में एक ही मुद्दा है। पिछले तीन दिनों से दिल्ली की सीमा को किसानों ने चारों तरफ से घेर रखा है। इन कानूनों पर किसानों का पक्ष पूरी तरह सही है। किसानों की मांग न्यूनतम समर्थन मूल्य की गांरटी करने की है। खेती के लागत की डेढ़ गुनी कीमत तय करने की सिफारिश स्वामीनाथन आयोग ने की थी। लेकिन सरकार उसे केवल कागज पर लागू कर रही है, यह किसानों के साथ बड़ा धोखा है। सभा को पार्टी के राज्य सचिव कुणाल, विधायक दल के नेता महबूब आलम, किसान महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष केडी यादव, पोलित ब्यूरो के सदस्य अमर, फुलवारी से विधायक गोपाल रविदास और ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी ने संबोधित किया। सभा का संचालन किसान नेता उमेश सिंह ने किया। पार्टी के कार्यालय सचिव कुमार परवेज ने बताया कि पटना के अलावा भोजपुर, सिवान, अरवल, जहानाबाद, गोपालगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, नालंदा, वैशाली, बक्सर, गया, नवादा, मधुबनी आदि जिलों में विरोध सभा का आयोजन किया गया।
अजीत झा/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/01/दिसम्बर/2020