क्षेत्रीय

पीएसी और पुलिस बल की मौजूदगी में विवादित भूमि की हुई पैमाइश

13/09/2021

बाराबंकी (ईएमएस)। असंद्रा थाना क्षेत्र के हाकामी गांव में बीते दिन विवादित भूमि की पैमाइश में राजस्व टीम के हमले के मामले में सोमवार को दो कानूनगो व चार लेखपाल की मौजूदगी में राजस्व टीम, पीएसी व पुलिस बल की मौजूदगी में भूमि की पैमाइश कराई गई। पुलिस फोर्स की तैनाती को देखकर विरोधी पस्त रहे। जबकि एसडीएम की वार्ता का एक ऑडियो वायरल होने से राजस्व कर्मियों के हाथ पैर भी फूल रहे थे। विदित हो कि रामसनेहीघाट तहसील के अंतर्गत असंद्रा थाना क्षेत्र के हकामी गांव में 1 सितंबर को हलका कानूनगो श्रीनिवास त्रिवेदी अपनी टीम व पुलिस बल के साथ प्रभाकर प्रहराज बनाम धनपता के मामले में मेड़बंदी, पत्थर नसब कराने जेसीबी लेकर पहुंचे थे। लेकिन सूर्यपुर निवासी संतोष कुमार पुत्र नागेंद्र सिंह, पूरेजबर मजरे हकामी निवासी अंतिम पुत्र गंगा व खरिकाफूल निवासी अजय पुत्र ब्रह्मजीत ने न्यायालय से स्थगन आदेश व बिना सूचना के पैमाइश की बात कह विरोध करने लगे। इस बाबत कानूनगो श्रीनिवास त्रिवेदी व संतोष के बीच मारपीट हो गई। शिकायत पर पुलिस ने उक्त तीनों आरोपियों के विरुद्ध मारपीट और सरकारी कार्य की बाधाओं में मुकदमा दर्ज कर संतोष कुमार को जेल भी भेजा था। मामले की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी गई। जिससे सोमवार को एक बार फिर विवादित जमीन का निस्तारण के लिए प्रशासन ने एक गाड़ी पीएससी, असंद्रा थाने की फोर्स समेत दो कानूनगो श्रीनिवास त्रिवेदी व नाना सरण तो चार लेखपाल राम संवारे, अशोक श्रीवास्तव, धनंजय पांडे व केके मिश्रा के संयुक्त टीम ने जमीन की पैमाइश की। देर शाम तक विवादित रास्ते पर जेसीबी चलती रही। इस संबंध में तहसीलदार दयाशंकर त्रिपाठी ने बताया कि न्यायालय के आदेशों का पालन करते हुए पैमाइश की कार्रवाई की गई है। ऑडियो वायरल सकते में एसडीएम: हकामी गांव में पैमाइश के संबंध में एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। जिसमे एमपी सिंह नाम का हाईकोर्ट अधिवक्ता एसडीम रामसनेहीघाट से फोन पर वार्ता कर अधिवक्ता द्वारा स्थगन आदेश खारिज की प्रति एसडीएम से व्हाट्सएप पर मांगना है। अधिवक्ता का कहना है कि मामले की फाइल अभी निस्तारित नहीं हुई। फिर स्थगन आदेश की खारिज की कापी कहां से आ गया। इस बाबत एसडीएम ने आदेश हमारे पास होना बताते है। लेकिन पुनः आदेश मांगे जाने पर एसडीएम ने आदेश होना बताया है। लेकिन इसकी आदेश की कॉपी मौजूद ना होने की बात कहते है। इस बातचीत का ऑडियो वायरल है।
शमीम/12/09/2021