क्षेत्रीय

चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा कोतमा अस्पताल

14/03/2019

इलाज के लिये आये मरीजों को हो रही परेशानी,
शासन-प्रशासन की उपेक्षा का हो रहा शिकार
कोतमा (ईएमएस)। कोतमा अस्पताल एक ओर डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा है दूसरी ओर डॉक्टर द्वारा अपनी अनुपस्थिति के बाद भी पहले से ही हाजिरी रजिस्टर में दो दिन पहले की हाजरी भर ली जाती है। जिस पर कोतमा बीएमओ डॉक्टर की बडी गलती को छुपाने में डॉक्टर की सहायता करतें है।
समुदायिक स्वास्थ केन्द्र कोतमा में कोतमा में पदस्थ डॉक्टर एमडी मोसीन द्वारा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के हाजिरी रजिस्टर पर 13 मार्च और 14 मार्च के रजिस्टर पर अपनी उपस्थिति पहले ही दर्ज करा दी। जबकि बताया जाता है कि डॉ मोसीन 2 दिन से समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपस्थित नहप थे। उसके बाद भी उनकी हाजरी रजिस्टर पर लगातार लगती रही। इतना ही नहप अनुपस्थिति दिन की हाजिरी तो लग ही रही थी, उसके साथ ही एडवांस में अन्य आने वाले 2 दिनों की हाजिरी भी बकायदा रजिस्टर पर हस्ताक्षर कर कर लगा दी गई। जिस पर आला अधिकारी कोतमा बीएमओ का कहना है कि ऐसी गलतियां कभी-कभी होती रहती हैं इसे बड़ा मुद्दा न बनाया जाए।
जब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अनुपस्थित डॉक्टर के द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज कराई जा सकती है तो कोतमा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की हालत समझी जा सकती है अधिकारी डॉक्टर की मिलीभगत से आए दिन हाजरी रजिस्टर में गोलमाल किया जाता है। इसके साथ ही बीते तीन दिवस से अन्य डॉक्टरों के हाजिरी भी रजिस्टर पर नहप लगी है वहप डॉ मोसिन अपनी उपस्थिति आने वाले 2 दिनों की पहले ही भर देते हैं और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपस्थित हुई नहप रहते हैं।
चल रहा फजबवाडा
सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र आये दिन खबरों में रहता है। डॉक्टर तो अनुपस्थित रहतें है पर हाजरी बकायदा दो दिनो पहले की लगा दी जाती है। स्वास्थ केन्द्र में पहले से ही डॉक्टर की कमी के कारण बदहाली के आंसू रो राहा है। वहप पदस्थ डॉक्टरों द्वारा फजबवाडा कर स्वास्थ केन्द्र को खोखला करने का कार्य कर रहें है। बताया जाता है की डॉक्टर मोसीन दो दिवस से स्वास्थ केन्द्र में सिरर्फ आना जाना किया है और बकायदा रजिस्टर में हाजरी लगा कर चलते बनें है। इतना ही नही 13 और 14 तीरीख की हाजरी भी एडवांस में रजिस्टर में बकायदा लगा दी गई है। जिस रजिस्टर में हजरी लगाई गई है उसी रजिस्टर में कोतमा बीएमओ द्वार अपनी हजरी लगाई जाती है। पर इस तरह को नजरअंदज कर फजबवाडे को बढावा दिया जाता है।
13 और 14 मार्च की लगा दी हाजरी
कोतमा स्वास्थ केन्द्र मे जब नगर की जनता द्वारा इलाज के लिये अपने परिवार के सदस्य को लाया जाता है तब डॉक्टर के अनुपस्थिति के कारण बिना इलाज के वापस लौटना पडता है। पर जब रजिस्टर में हाजरी देखी जाती है तो डॉक्टर साहब रजिस्टर के मुताबिक समुदायिक स्वास्थ केन्द्र मे होतें है इसके साथ ही अगली दो तारीख 13 और 14 की भी हाजिरी बकायदा पहले ही भर दी जाती है।
इनका कहना है-
ऐसा तो कभी कभी होता रहता है हम से भी कभी एसी गलतियां हो जाती है आज दोपहर को ढाई बजे से वह उपस्थित रहेंगें।
पंकज दीवान, बीएमओ, कोतमा
मै रजिस्टर मंगवाकर उसकी जांच करूगा, अगर डॉक्टर अनुपस्थित है तो अनुपस्थित ही दर्ज होगी, साथ ही कार्यवाही की जायेगी।
आरपी श्रीवास्तव
सीएचएमओ अनूपपुर
प्रवीण/14/03/2019