खेल

भारत में आईपीएल जारी रखने की बहस में माइकल वॉन भी कूदे

02/05/2021

नई दिल्ली(ईएमएस)। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 को जारी रखने को लेकर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने आईपीएल के पैसे का इस्तेमाल कोरोना मरीजों के इलाज में करने की बात कही है। इस बहस में इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन भी कूद आए हैं। उन्होंने भारत में आईपीएल खेलने की मंजूरी देने पर इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया पर निशाना साधा है। शोएब अख्तर ने आईपीएल 2021 के बचे हुए मुकाबलों को स्थगित करने की बात कही है। उन्होंने आईपीएल पर खर्च होने वाले धन से ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने की वकालत की है। उनका कहना है कि इस समय मनोरंजन से ज्यादा लोगों की जान बचाने की जरूरत है। वहीं, माइकल वॉन ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं सोचता हूं कि आईपीएल को जारी रखना चाहिए… इस भयावह समय में यह हर शाम कई अरब लोगों के लिए खुशी के पल लाता है… लेकिन जब पीछे सोचता हूं तो यह मुश्किल में पड़ जाता हूं कि कैसे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीमें साउथ अफ्रीका में क्रिकेट खेलने से कैसे पीछे हट गईं थीं, लेकिन दोनों देशों ने अपने खिलाड़ियों को भारत में आईपीएल 2021 में खेलने की मंजूरी दे दी।’ माइकल वॉन की इस पोस्ट पर ट्विटर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं। @alisulehria ने लिखा, ‘पैसा इंसान की जिंदगी से बढ़कर है। सीधा सा गणित है।’ @imadiqbal78 ने वॉन को रिप्लाई में लिखा, ‘ऑस्ट्रेलियाई और अंग्रेज खिलाड़ियों के लिए दक्षिण अफ्रीका में कोविड बहुत खतरनाक था, लेकिन भारत में उससे 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोविड का वैरिएंट नुकसानदायक नहीं है। पाखंड अपने चरम पर है।’ @SalmanAhmed095 ने लिखा, ‘राजनीति और ढेर सारा धन। आईपीएल के खिलाड़ियों को बैग भर-भरकर पैसा दिया जा रहा है।’ इस पर @Ananthbk4 ने लिखा, ‘आईपीएल में अब तक किसी भी खिलाड़ी ने बॉयो बबल के नियम का उल्लंघन नहीं किया है। अब हम जानते हैं कि एशिया में सबसे कम साक्षरता दर पाकिस्तान में क्यों है?’ बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण अब तक ऑस्ट्रेलिया के तीन क्रिकेटर आईपीएल 2021 को बीच में ही छोड़कर स्वदेश लौट चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया रवाना होने वाले राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाय ने हैरानी जताते हुए कहा था कि जब देश में इतनी बड़ी स्वास्थ्य समस्या है, तब फ्रैंचाइजी क्रिकेट पर इतनी बड़ी रकम कैसे खर्च कर रही हैं।
एसएस/02मई/ईएमएस