क्षेत्रीय

सम्पूर्ण लॉक डाउन को लेकर शहर रहा पूरी तरह से बंद

12/07/2020

बाजारों और गलियों में पसरा सन्नाटा, चौक चौराहों पर पुलिस मुस्तैद
अशोकनगर (ईएमएस)। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार व प्रशासन द्वारा रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। इसी के तहत रविवार को एक बार फिर से समूचा जिला सन्नाटे में डूब गया। शहर के मुख्य बाजारों के साथ-साथ बस स्टैंड पर भी कोई यात्री दिखाई नहीं दिया। इसके अलावा शहर में हर चौक चौराहों पर पुलिस मुस्तैद रही और शहर में आने जाने वालों से पूछताज की गई। इसके साथ ही बिना वजह घूमने वाले लोगों को पुलिस द्वारा वापिस घर लौटाया गया।
सुबह 9 बजे से खुलने वाला शहर संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर पूरी तरह से बंद नजर आया शहर में सडक़ों पर सन्नाटा दिखाई दिया। कलेक्टर के निर्देशन पर तहसीलदार व थाना प्रभारी सहित प्रशासनिक अमला पूरी तरह से सक्रिय नजर आया। लॉकडाउन को लेकर शहर के गांधी पार्क चौराहा, बस स्टैंड क्षेत्र, इन्दिरा पार्क आदि सार्वजनिक स्थानों पर पूरी तरह से सन्नाटा दिखाई दिया। पूर्व की तरह तहसीलदार व थाना प्रभारी लॉकडाउन को लेकर शहर का भ्रमण करते हुए नजर आए वही शहर में बेवजह घूमने वाले व्यक्तियों को घरों में रहने की बात कही।
गौर हो कि कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है और इस समय शहर में कोरोना वायरस से 17 मरीज संक्रमित पाए जा चुके हैं और अब तक 1 की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। जिस कारण प्रदेश सरकार की ओर से रविवार को वीकेंड लॉकडाउन का एलान किया गया है। जिला मुख्यालय सहित अन्य इलाकों में लॉकडाउन लागू होने के बाद अधिकांश लोगों ने प्रशासनिक आदेश का सम्मान करते हुए खुद को घरों के अंदर कैद कर दिया। तमाम व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के बंद रहने के कारण लोगों ने खुद ही घर से बाहर निकलने में परहेज किया। बावजूद इसके बिना वजह के घरों से बाहर निकलने वालों की संख्या कम नहीं रही। जिन्हें पुलिस बल ने सबक सिखाया।
चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात:
लॉकडाउन का शत-प्रतिशत पालन कराने के लिए नगर के नये बस स्टेण्ड तिराह, शशिन्द्र सिंह चौराह, राजमाता चौराह, गांधी पार्क के अलावा जिले के अन्य प्रमुख मार्गों पर जगह-जगह पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी। बैरीकेडिंग के आरपार किसी को भी नहीं आने-जाने दिया जा रहा था। सिर्फ बहुत जरूरी काम से निकले लोगों को ही आने-जानेे दिया जा रहा था।
इस बीच लॉकडाउन के चलते बसें बस स्टेशन से बाहर नहीं निकलीं।
जरूरत की दुकानों को खोलने की इजाजत:
लॉकडाउन के दौरान प्रशासन की तरफ से लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए शहर में जरूरत की दुकानों को खोलने की इजाजत दी है और बाकी की सभी दुकानों को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। इसी कारण रविवार को शहर के सभी प्रमुख बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। इसके अलावा शहर की गलियों व सडक़ों पर भी आवाजाही न के ही बराबर रही। गर्मी और कोरोना के चलते लोगों ने अपने-अपने घरों में रहकर परिजनों के साथ समय व्यतीत किया।
प्रवीण/12/07/2020