ट्रेंडिंग

कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 50 लाख के पार, 39 लाख से अधिक ठीक हुए

15/09/2020

नई दिल्ली (ईएमएस) देश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 50 लाख 8हजार 878 हो गई है। अब तक इस बीमारी से 82,038 लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को सबसे ज्यादा 1230 लोगों की मौत हुई। मंगलवार को 75,110 लोगों को इस बीमारी से मुक्ति मिली और ठीक होने वालों की संख्या 39 लाख 31 हजार 356 हो गई। इस समय देश में 9,94,779 सक्रिय मरीज हैं। मंगलवार को देश में 81964 कोरोना संक्रमित मरीज रात 10 बजे तक मिल चुके थे।
कोरोनावायरस पीड़ित महाराष्ट्र में मंगलवार को 20,432 नए मरीज मिले। यहां अब तक 10,97,806 मरीज मिल चुके हैं। मंगलवार को आंध्र प्रदेश में 8846, तमिलनाडु में 5697, कर्नाटक में 7576, उत्तरप्रदेश में 6841, दिल्ली में 4263, पश्चिम बंगाल में 3227, बिहार में 1575, तेलंगाना में 2058, ओडिशा में 3645, गुजरात में 1394, मध्यप्रदेश में 2323, पंजाब में 2382, जम्मू और कश्मीर में 1329 तथा उत्तराखंड में 1391 नए संक्रमित मरीज मिले। इसमें असम, केरल, छत्तीसगढ़, झारखंड जैसे राज्यों का आंकड़ा शामिल नहीं है। जहां देर रात तक बड़ी संख्या में मरीज मिलने की संभावना है और पीड़ितों की संख्या 90,000 से ऊपर पहुंच सकती है। कोरोना के लेकर कोई आशा भरी खबर फिलहाल देश के सामने नहीं है। सभी राज्यों में यह महामारी तेजी से फैल रही है। कमजोर स्वास्थ्य वाले लोगों के लिए इस महामारी का फैलाव चिंता का विषय है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि महामारी का टीका दुनिया के सामने अगले वर्ष के मध्य तक आ सकता है। इस दौरान अगले लगभग 9 माह में भारत जैसे देशों में कोरोनावायरस की स्थिति क्या होगी कहना मुश्किल है। अभी तक केवल अनुमान लगाए जा रहे हैं लेकिन जिस तरह से नए क्षेत्रों में इस वायरस का फैलाव हो रहा है उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि फिलहाल भारत में वायरस नियंत्रण में नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि भारत में अन्य देशों की अपेक्षा मृत्यु दर कम है। फिर भी 80 हजार से ऊपर लोगों की मौत होना चिंताजनक है। यह संख्या अगले माह और तेजी से बढ़ सकती है। क्योंकि प्रतिदिन 1000 से अधिक मरीजों की मौत हो रही है। केंद्र और राज्य सरकारों का फोकस अब इस बात पर है कि कोरोना से मृत्यु दर कम की जाए, लेकिन सक्रिय मरीजों की संख्या हमारी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए चुनौतीपूर्ण है। इस माह के अंत तक देश में 10 लाख से अधिक सक्रिय मरीज हो सकते हैं।
सुबोध\१५\०९\२०२०