अंतरराष्ट्रीय

न्यूर्याक में लोगों को देना पड़ता है अजीबोगरीब टैक्स

16/09/2019

न्यूर्याक(ईएमएस)। किसी भी देश में हाउस टैक्स, वॉटर टैक्स और भी कई तरह के टैक्स जरूरी होते हैं लेकिन, दुनिया में कई एसे देश हैं जहां लोगों को कभी धूप परछाई या मोटापे पर जैसे अजीबोगरीब टैक्स अदा करने पड़ते हैं। अमेरिका के ऑर्कन्स राज्य में टैटू या शरीर पर कोई तस्वीर गुदवाने पर 6 फीसदी टैक्स देना होता है। इसके अलावा इटली के वेनेटो शहर में एक जगह का नाम कॉनेग्लियानो है। वहां होटल, रेस्तरां या दुकान में लगे बोर्ड या टेंट की परछाई गली में बनती है तो उनसे एक साल में सौ डॉलर कर के रूप में वसूला जाता है। ऐसा ही टैक्स स्पेन के बैलरिक द्वीपसमूह में भी साल 2016 से सन टैक्स यानी धूप टैक्स का लगाया जा रहा है। क्योंकि वहां हर साल एक करोड़ से ज्यादा पर्यटक आते हैं। इसके कारण स्थानीय संसाधनों पर दबाव पड़ता है। वहीं अमेरिका में साल 2010 से टैनिंग टैक्स लगाया जा रहा है। इस टैक्स को लगाने के पीछे मुख्य कारण यह है कि स्किन कैंसर पर रोकथाम लगाया जा सके। इसी क्रम में हंगरी भी है जहां साल 2011 से हर उन डिब्बाबंद खानों पर कर वसूला जाता है, जिनमें ज्यादा मात्रा में चीनी और नमक मौजूद होते हैं। आधिकारिक तौर पर इसे पब्लिक हेल्थ प्रॉक्ट टैक्स कहा जाता है। अलाबामा रेवेन्यू डिपार्टमेंट ने बताया ‎कि अमेरिका के अलबामा राज्य में ताश का बंडल खरीदने पर टैक्स लगाया जाता है। हालां‎कि ऐसा टैक्स वसूलने वाला अलबामा एकमात्र राज्य है। बताया जा रहा है ‎कि जापान में मेटाबो कानून के तहत 40 साल से लेकर 75 साल के लोगों की कमर हर साल नापना जरूरी है। अगर पुरुष की कमर की लंबाई 85 सेंटीमीटर से ज्यादा होती है तो टैक्स लगता है और महिलाओं को 90 सेंटीमीटर से ज्यादा होने पर टैक्स देना पड़ता है।
ज्योति/ईएमएस 16 सितंबर 2019