राज्य समाचार

(नई दिल्ली) हरियाणा के कृषि मंत्री ने किया 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रर्दशनी' का शुभारंभ

06/12/2018

नई दिल्ली (ईएमएस)। हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड ने इंडिया गेट पर 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रर्दशनी' का शुभारंभ करते हुए कहा कि गीता का ज्ञान मनुष्य के लिए सहस्त्राब्दियों से प्रेरणा स्त्रोत रहा है।
हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड ने नई दिल्ली में इंडिया गेट पर कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड द्वरा आयोजित की जा रही 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रर्दशनी' का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। हरियाणा के कृषि व किसान कल्याण मंत्री ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि गीता की उद्गम स्थली हरियाणा में कुरुक्षेत्र में है। श्री धनखड ने 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रर्दशनी' का अवलोकन भी किया।कुरुक्षेत्र में आयोजित होने जा रहे 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह- 2018' से संबंधित'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रदर्शनी' का गत दिनों लालकिला मैदान पर आयोजन किया गया। इसी क्रम में 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह प्रदर्शनी' इंडिया गेट पर 10 दिसंबर,2018 तक किया जा रहा है।गेट,नई दिल्ली पर 10 दिसंबर,2018 तक किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि गत वर्षों की भांति इस बार भी कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड द्वारा कुरुक्षेत्र (हरियाणा) में 07 दिसंबर,2018 से 23 दिसंबर,2018 तक 'अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती समारोह-2018' का भव्य आयोजन किया जाएगा।इस बार मारीशस एक भागीदार राष्ट्र के रूप में तथा गुजरात एक भागीदार राज्य के रूप में भागीदारी कर रहे हैं। गीता महोत्सव में मारीशस के कला एवं संस्कृति मंत्री भी शामिल होंगे। इस बार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शिल्प मेला भी आयोजित किया जा रहा है। हरियाणा की लोक संस्कृति से संबंधित हरियाणा पैवेलियन भी स्थापित रहेगा। परंपरागत रूप से विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का शानदार आयोजन रहेगा। संत सम्मेलन 16 दिसंबर को होगा।समारोह में 18 दिसंबर को 18 हजार विद्यार्थियों सहित 21 हजार व्यक्तियों द्वारा एक साथ अष्टादशी गीता श्लोक उच्चारण किया जाएगा। संतो द्वारा तीन दिनो तक व्याख्यान दिए जाएंगे।
प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर हरियाणा के अतिरिक्त प्रधान आयुक्त श्री विवेक सक्सेना व थानेश्वर के उपमंडल अधिकारी (नागरिक) अनिल यादव ,कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के सचिव मदन मोहन छाबड़ा भी मौजूद रहे।
----/06 दिसम्बर 2018